खोज

Vatican News
लोगों से मुलाकात करते संत पापा फ्राँसिस लोगों से मुलाकात करते संत पापा फ्राँसिस 

"पल्ली सेवा का स्कूल बनें", इताली धर्माध्यक्षों से पोप

संत पापा फ्रांसिस ने इटली के ग्रामीण क्षेत्रों में सेवा देनेवाले धर्माध्यक्षों की सभा को अपना संदेश भेजते हुए उनका अभिवादन किया। उन्होंने उनसे अपील की कि उनका प्रेरितिक कार्य उदारता एवं आशा से पूर्ण हो।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 31 अगस्त 2021 (रेई)- बेनभेन्तो शहर में करीब 20 इताली धर्माध्यक्ष दो दिवसीय सभा में भाग ले रहे हैं ताकि वे अपनी प्रेरितिक देखभाल को जनसंख्या ह्रास, हाशिये पर जीवनयापन करने एवं आर्थिक कठिनाई झेलनेवाले लोगों के बीच पुनः जागृत करें।

धर्माध्यक्ष पीएदमोंते, उम्ब्रिया, लात्सियो, अब्रूत्सो, मोलिसे, कैम्पानिया, पुलिया, बसिलिकाता और कलाब्रिया धर्मप्रांतों के हैं।

सोमवार को जब बैठक की शुरूआत हुई संत पापा फ्राँसिस ने सभा के प्रतिभागियों को संदेश भेजा तथा आग्रह किया कि वे "सारी चीजों को नवीन बनाने हेतु" खुलेपन के साथ आगे बढ़ें।

उदारता एवं समन्वय

संत पापा ने कहा कि सभा धर्माध्यक्षों को समन्वय एवं बंधुत्व की खोज करने एवं चुनौतियों का सामना एक साथ करने में मदद देगा।

उन्होंने कहा, "अपने आपको कठिनाइयों, व्यक्तिवाद और उदासीनता से लकवाग्रस्त होने न दें जो इस समय की विशेषता है।"

बल्कि ख्रीस्तियों को इन समस्याओं का सामना उदारता एवं सक्रिय सहभागिता और "आज के समाज में मूल्यों की कमी के साथ असहमति जताते हुए करना चाहिए।"

सेवा का स्कूल

उन्होंने इताली धर्माध्यक्षों से अपील की कि वे अतीत के लिए विषाद से ऊपर उठें और उन जगहों पर एक सांत्वना देनेवाली उपस्थिति बनने हेतु साहसिक कदम उठाएं जहां कठिनाइयाँ बहुत अधिक हैं।  

उन्होंने कहा, "पल्ली, ख्रीस्तीय जीवन के लिए प्रशिक्षण केंद्र तथा दूसरों के लिए सेवा का स्कूल बने, इस तरह विनम्रता एवं कोमलता चमकेगा।"

संत पापा ने अपने संदेश के अंत में पहल के लिए सराहना व्यक्त की जो धर्माध्यक्षों को योजना एवं मनोभाव बनाने में मदद करेगा ताकि लोग "येसु से मुलाकात के प्रेम को पा सकेंगे।"  

31 August 2021, 15:58