खोज

Vatican News
फ्रांसिस्कन धर्मसंघ के नये जनरल फादर मास्सिमो जोवान्नी फुसारेल्ली फ्रांसिस्कन धर्मसंघ के नये जनरल फादर मास्सिमो जोवान्नी फुसारेल्ली 

फ्रायर्स माइनर के नए फादर जेनरल को संत पापा का आशीर्वाद

संत पापा फ्राँसिस ने फ्रांसिस्कन धर्मसंघ के नये फादर जनरल के रुप में फादर फुसारेल्ली नियुक्ति पर उन्हें बधाई दी और संत फ्रांसिस असीसी के संरक्षण में उन्हें समर्पित किया। कार्डिनल ब्रेज़ डी अवीज़ ने चुनाव की खबर दी। फादर माइकल एंथोनी पेरी का उत्तराधिकारी बनने वाले फादर फुसारेल्ली के प्रेरितिक अनुभवों में से एक इटली के अमात्रिचे और अक्यूमोली के भूकंप पीड़ितों के बीच की गई प्रेरितिक सेवा भी है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

रोम, बुधवार 14 जुलाई 2021 (वाटिकन न्यूज) : फादर मास्सिमो जोवान्नी फुसारेल्ली छह साल की अवधि 2021-2027 के लिए फ्रांसिस्कन ऑफ फ्रायर्स माइनर धर्मसंघ के नए जनरल नियुक्त हुए।

संत पापा फ्राँसिस ने उन्हें बधाई दी। संदेश में उन्होंने लिखा,"आपके चुनाव की खबर सुनकर, मैं आपको बधाई देता हूँ। मैं अपनी प्रार्थनाओं और आशीर्वाद का आश्वासन देता हूँ, ताकि प्रभु आपके सेवा कार्यों में आपकी सहायता और रक्षा करें। सेराफिक पिता संत फ़्रांसिस असीसी आपको अपने भाइयों के मार्गदर्शन में आपकी सहायता एवं प्रोत्साहन दे।"

नियुक्ति की घोषणा 13 जुलाई को रोम में सान लोरेंजो दा ब्रिंडिसि के इंटरनेशनल कॉलेज को, कार्डिनल जोआओ ब्रेज़ डी एविज़ द्वारा सूचित की गई थी, वे धर्मसंधी समुदायों और समर्पित जीवन की संस्थाओं और प्रेरिताई जीवन संबंधी संधों के धर्मसंघ के प्रीफेक्ट हैं और ऑर्डर ऑफ फ्रायर्स माइनर (ओएफएम) 2021 की महासभा की अध्यक्षता कर रहे हैं।

जीवन परिचय

फादर फुसारेल्ली का जन्म 30 मार्च 1963 को रोम में हुआ। अपने परिवार के साथ इसी शहर में पले-बढ़े। फ्राँसिस्कन पुरोहितों से उनकी मुलाकात तिवोली के संत फ्राँचेस्को पल्ली में हुई। उनके माध्यम से उन्होंने पुरोहितिक बुलाहट को पहचाना और 30 जुलाई, 1983 को ऑर्डर ऑफ फ्रायर्स माइनर धर्मसंध में अपना पहला मन्नत लिया। उन्होंने तत्कालीन परमधर्मपीठ एथेनियम अंतोनियानुम विश्वविद्यालय में दर्शनशास्त्र और धर्मशास्त्र की पढ़ाई की।

1988 में धर्मशास्त्र में स्नातक और बाद में अगुस्तिनियानुम पैट्रिस्टिक इंस्टीट्यूट में पैट्रिस्टिक थियोलॉजी में मास्टर की डिग्री की। 30 सितम्बर 1989 को इनका पुरोहिताभिषेक हुआ। इन्होंने 1992 में अगुस्तिनियानुम पैट्रिस्टिक इंस्टीट्यूट में पैट्रिस्टिक थियोलॉजी में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की और पोंटिफिकल एथेनियम अंतोनियानुम में 1992 से 1996 तक धार्मिक विज्ञान संस्थान में धर्मशास्त्र पढ़ाया।

1999 से 2003 तक वे धर्मसंध के गुरुकुल में प्रशिक्षक, प्रांतीय पार्षद और चल रहे प्रशिक्षण के प्रांतीय और राष्ट्रीय मध्यस्थ थे। 2003 से 2009 तक फुसारेल्ली जनरल कुरिया के महासचिव के रूप में अपनी सेवा दी।

2009 से 2013  तक वे रोम के पूर्वी बाहरी इलाके में, तोर्रे एंजेला समुदाय में रहकर सुसमाचार प्रचार परिवारों के प्रेरिताई में संलग्न रहे। 20 दिसंबर, 2013 को उत्तरी इटली के छह ओएफएम प्रांतों के एकीकरण की प्रक्रिया में फादर जनरल के प्रतिनिधि नियुक्त किये गये।

अक्टूबर 2016 से अगस्त 2017 तक वे रिएती प्रांत में अमात्रिचे और अकुमोली के भूकंप पीड़ितों के बीच काम किया। सितंबर 2017 से वे रोम में संत फ्रांचेस्को रिपा के पल्ली पुरोहित और जरूरतमंद लोगों के लिए "रिपा देई सेटेसोली" रिसेप्शन प्रोजेक्ट के प्रभारी हैं। 2 जुलाई 2020 को उन्हें लाज़ियो प्रोविंस का प्रोविंशियल चुना गया।

14 July 2021, 15:26