खोज

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस संत पापा फ्राँसिस   (AFP or licensors)

यह करुणा का साक्ष्य देने का समय है

संत पापा फ्रांसिस ने 25 मई के ट्वीट संदेश में पवित्र आत्मा की सक्रियता की ओर ध्यान आकृष्ट किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 25 मई 2021 (रेई)- संत पापा फ्राँसिस ने पेंतेकोस्त महापर्व के बाद कलीसिया में पवित्र आत्मा की सक्रियता की ओर ध्यान आकृष्ट करते हुए बतलाया कि हमें किन बातों पर ध्यान देना है।

उन्होंने 25 मई के ट्वीट संदेश में कहा, "सांत्वनादाता कलीसिया से कह रहे हैं कि आज दिलासा का समय है। यह गैर-ख्रीस्तीयता से संघर्ष करने की अपेक्षा, आनन्द पूर्वक सुसमाचार की घोषणा करने का समय है। यह पुनर्जीवित प्रभु के आनन्द का वाहक बनने का समय है न कि सांसारिकता के नाटक के लिए शोक मनाने का।"

दूसरा ट्वीट संदेश

आज के दूसरे ट्वीट संदेश में संत पापा ने कहा, "यह दुनिया को प्यार करने का समय है, दुनियादारी का आलिंगन करने का नहीं। यह नियमों और कानूनों पर ध्यान देने की अपेक्षा, करुणा का साक्ष्य देने का समय है। यह पवित्र आत्मा का समय है। यह सांत्वना दाता में हृदय की स्वतंत्रता का समय है।"   

25 May 2021, 15:18