खोज

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस और संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति के विशेष दूत जॉन फोर्ब्स केरी संत पापा फ्राँसिस और संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति के विशेष दूत जॉन फोर्ब्स केरी  (ANSA)

केरी:जलवायु संकट, संत पापा की आवाज पहले से ज्यादा महत्वपूर्ण

वाटिकन में संत पापा फ्राँसिस के साथ मुलाकात के बाद, वाटिकन न्यूज के साथ इस साक्षात्कार में, जलवायु के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति के विशेष दूत वर्तमान जलवायु आपात स्थितियों के सामने मानवता की चुनौतियों के बारे में बातें की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 17 मई 2021 (वाटिकन न्यूज) : "संत पापा तर्क की महान आवाज़ों में से एक हैं और जलवायु संकट के मुद्दे पर एक दृढ़ नैतिक अधिकार हैं" और ग्रह के पीड़ित पर्यावरणीय आपात स्थितियों के सामने उनकी आवाज़ आज "पहले से कहीं अधिक महत्वपूर्ण है": यह बात जलवायु के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति के विशेष दूत जॉन फोर्ब्स केरी ने वाटिकन में संत पापा फ्राँसिस के साथ बैठक के तुरंत बाद वाटिकन न्यूज के साथ एक साक्षात्कार में कहा।

आप यहां यूरोपीय नेताओं से जलवायु संकट के बारे में बात करने आए हैं। यूरोप की इस यात्रा में संत पापा से मुलाकात को इस यात्रा में शामिल करना आपके लिए क्यों महत्वपूर्ण था?

इस प्रश्न का जवाब देते हुए केरी ने कहा, संत पापा फ्राँसिस तर्क की महान आवाज़ों में से एक हैं और जलवायु संकट के विषय पर उनका एक दृढ़ नैतिक अधिकार है। वे एक अग्रदूत थे, जो समय का अनुमान लगा रहे थे। उनका विश्वपत्र  'लौदातो सी' नैतिक दृष्टिकोण से वास्तव में एक बहुत ही शक्तिशाली, वाक्पटु और बहुत प्रेरक दस्तावेज है और मुझे लगता है कि उनकी इच्छा एक बहुत ही महत्वपूर्ण आवाज होगी जो ग्लासगो सम्मेलन में हमारा साथ देगी, जिसमें मेरा मानना ​​है कि वे भाग लेना चाहते हैं। इस लड़ाई में हमें सभी की जरूरत है। दुनिया के सभी नेताओं को एक होना चाहिए और हर देश को अपनी भूमिका निभानी चाहिए। मुझे लगता है कि संत पापा एक नैतिक अधिकार के साथ बोलते हैं जो अद्वितीय है।

केरी: जलवायु संकट, संत पापा की आवाज पहले से ज्यादा महत्वपूर्ण
17 May 2021, 14:34