खोज

Vatican News
2021.05.18 लौदातो सी पहल के तहत बांग्लेदेश के काथलिक वृक्षारोपन करते हुए 2021.05.18 लौदातो सी पहल के तहत बांग्लेदेश के काथलिक वृक्षारोपन करते हुए 

पृथ्वी और गरीबों की पुकार सुनना जारी रखें, संत पापा

सोमवार 24 मई को "लौदातो सी वर्ष" के समाप्त हो रहा है। संत पापा फ्राँसिस ने "लौदातो सी कार्य मंच" का शुभारंभ किया और सद्भावना के सभी पुरुषों और महिलाओं से पृथ्वी और गरीबों की पुकार को सुनना जारी रखने का आग्रह किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 24 मई 2021 ( वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने रविवार को दुनिया भर के पुरुषों और महिलाओं को पृथ्वी और गरीबों की पुकार को सुनते हुए पर्यावरण और सामाजिक सम्मान एवं न्याय के मार्ग पर चलने के लिए आमंत्रित किया।

संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में स्वर्ग की रानी प्रार्थना का पाठ करने के बाद  उन्होंने विश्वासियों को याद दिलाया कि सोमवार, 24 मई, "लौदातो सी वर्ष" का समाप्त हो रहा है। संत पापा ने उन हजारों लोगों को धन्यवाद दिया जिन्होंने दुनिया भर में कई पहलों, परियोजनाओं और कार्यक्रमों का संचालन कर इस वर्ष को जीवंत बनाया।

लौदातो सी वर्ष

हमारे आम घर की देखभाल के लिए समर्पित संत पापा के विश्वपत्र की पांचवीं वर्षगांठ पर विशेष लौदातो सी वर्ष में कई पहलों को शामिल किया गया, जो समग्र मानव विकास को बढ़ावा देने के लिए बने परमधर्मपीठीय विभाग के साथ साझेदारी में गैर सरकारी संगठनों और विश्वास-आधारित समूहों द्वारा कार्यान्वित किया गया। "कार्यक्रमों" में "पारिस्थितिक सुधार" पर जोर दिया गया। इसका उद्देश्य सभी को जमीनी स्तर से "अपनी संस्कृति, अनुभव, भागीदारी और प्रतिभा"के आधार पर "सृष्टि की देखभाल के लिए आमंत्रित करना था।

"लौदातो सी कार्य मंच"

यह दोहराते हुए कि यह एक यात्रा है जिसमें हम सभी को पृथ्वी एवं गरीबों की पुकार सुनते हुए एक साथ आगे बढ़ना है। संत पापा ने घोषणा की कि जल्द ही "लौदातो सी कार्य मंच" की शुरूआत की जायेगी, जो सात सालों तक परिवारों, पल्लियों एवं धर्मप्रांतीय समुदायों, स्कूलों, विश्वविद्यालयों, अस्पतालों, व्यापारों, दलों, आंदोलनों संगठनों, धर्मसमाजी संस्थाओं को एक सतत् जीवन शैली ग्रहण करने के लिए मार्गदर्शन देगा।"

संत पापा ने आमघर की देखभाल करने का एवं सृष्टि के सुसमाचार को फैलाने का जनादेश प्राप्त करनेवाले लौदातो सी मंच के "अनुप्राणदाताओं" एवं स्वयंसेवकों को शुभकामनाएँ दी।

24 May 2021, 16:13