खोज

Vatican News
गरीब क्लारिस धर्मबहनों  के साथ संत पापा फ्राँसिस गरीब क्लारिस धर्मबहनों के साथ संत पापा फ्राँसिस 

क्लारिस धर्मबहनों से संत पापा:प्रार्थना, सांत्वना देने से न थकें

संत पापा फ्राँसिस ने गरीब क्लारिस धर्मबहनों से मुलाकात की, 2009 में इतालवी शहर अक्विला में भूकंप से पगानिका का कॉन्वेंट नष्ट हो गया था। उन्होंने त्रासदी के बीच आशा की निशानी की पेशकश की है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 25 अप्रैल 2021 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने सोमवार 26 अप्रैल को वाटिकन के प्रेरितिक आवास में अक्विला पगानिका की गरीब क्लारिस धर्मबहनों का सौहार्दपूर्वक स्वागत किया। संत पापा ने उन्हें अपनी प्रार्थनाओं के लिए और विशेष रूप से कासा सांता मार्था के चैपल के लिए सजाये गये ईस्टर मोमबत्ती के उपहार के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, ʺमसीह, दुनिया की रोशनी के इस प्रतीक के माध्यम से, आप आध्यात्मिक रूप से उस चैपल में होने वाले समारोहों में उपस्थित होते हैं।ʺ

ईश्वर की देखभाल और एकजुटता

संत पापा ने 2009 के भूकंप की त्रासदी को याद करते हुए कहा, ʺअक्विला में पगानिका का आपका समुदाय भूकंप की त्रासदी का अनुभव किया, जिसमें आपका मठ नष्ट हो गया था, मलबे के नीचे अब्बेस मदर जेम्मा अंतोनुच्ची की मौत हो गई और अन्य बहनें घायल हो गईं। हालाँकि, उस त्रासदी से ईश्वर ने आपको मजबूत बनाया और जिस तरह गेहूँ के दाने को और फल लाने के लिए मरना पड़ता है, यही बात आपके मठवासी समुदाय के लिए भी था। आपने दुखद पीड़ा के साथ-साथ स्वर्गीय पिता के प्रेमपूर्ण देखभाल और कई लोगों की एकजुटता का भी अनुभव किया है।ʺ

एक नई शुरुआत

संत पापा ने कहा, ʺउस रात आपने ईश्वर और भाईचारे को छोड़कर सब कुछ खो दिया। इन दो मजबूत आधार के साथ  एक अस्थायी संरचना में रहते हुए आपने साहस पूर्वक फिर से नई शुरुआत की। भूकंप के दस साल बाद, आप पुनर्निर्मित मठ में लौट आए हैं। बारह धर्मबहनों से बना आपका युवा समुदाय अब फल-फूल रहा है। यह वह संदेश है जो आपने लोगों को दिया है: त्रासदियों के सामने नए सिरे से ईश्वर और बंधुत्व एकजुटता से शुरुआत करना आवश्यक है। इस के लिए बहुत बहुत धन्यवाद!ʺ

प्रार्थना और सांत्वना देने से न थकें

संत पापा ने गंभीर त्रासदी का अबतक सामना करने लोगों के बीच उनकी उपस्थिति और समर्थन के लिए संत पापा ने उन्हें धन्यवाद दिया और कहा कि वे अपने लोगों के बीच प्रार्थना और सांत्वना देने से कभी न थकें, जो गंभीर रूप से अभी भी भयानक अनुभव का सामना कर रहे हैं और उन्हें अभी भी आराम और प्रोत्साहन की जरूरत है। संत पापा ने कहा, ʺधन्य अंतोनिया का उदाहरण आपको गरीब मसीह के प्यार में हमेशा गरीब और खुशहाल महिलाएँ बने रहने में मदद करें। संत क्लारा और संत फ्राँसिस से प्राप्त करिश्मा के प्रति आस्थावान बने रहें और उदारता के साथ जवाब देते रहें, जिसे ईश्वर ने आपके हृदय में रखा है, सुसमाचार के अनुसार अपने पूर्ण समर्पण जीवन को खुशी से व्यतीत करें।ʺ

संत पापा ने पुनः उन्हें धन्यवाद दिया और अपने लिए प्रार्थना करने की अपील करते हुए उन्हें अपना प्रेरितिक आशीर्वाद दिया।

26 April 2021, 14:27