खोज

Vatican News
समुद्र पार करते आप्रवासी समुद्र पार करते आप्रवासी  (ANSA)

समुद्र में आप्रवासियों की मदद करने से कभी इन्कार नहीं किया जाना चाहिए

संत पापा ने आप्रवासियों के लिए प्रार्थना की जो सागर पार करने के प्रयास में भूमध्यसागर में डूबकर मर गये। उन्होंने बगदाद के कोविड अस्पताल में लगी आग के शिकार 82 लोगों तथा संत भिन्सेंट एवं ग्रेनाडाइन में ज्वालामुखी विस्फोट से पीड़ित लोगों के प्रति अपना आध्यात्मिक सामीप्य व्यक्त किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

संत पापा ने संत भिन्सेंट एवं ग्रेनाडाइन द्वीप के लोगों के प्रति अपना आध्यात्मिक सामीप्य व्यक्त किया, जहाँ ज्वालामुखी विस्फोट ने गंभीर क्षति एवं असुविधा पहुँचायी है। संत पापा ने कहा, "मैं आप लोगों को अपनी प्रार्थनाओं का आश्वासन देता हूँ तथा उन लोगों को आशीष प्रदान करता हूँ जो मदद कर रहे हैं।"

संत पापा ने बगदाद में कोविड रोगियों के अस्पताल में लगी आग के शिकार लोगों के प्रति भी अपना आध्यात्मिक सामीप्य व्यक्त किया।

भूमध्यसागर में डूबनेवाले आप्रवासियों के लिए प्रार्थना

उन्होंने भूमध्यसागर में डूबनेवाले आप्रवासियों के लिए खेद प्रकट करते हुए कहा, "मैं उस त्रासदी से अत्याधिक दुःखी हूँ जो भूमध्यसागर में फिर एक बार फिलहाल हुआ है। जिसमें एक सौ तीस आप्रवासी समुद्र में मर गये। वे आदमी हैं वे भी मानव प्राणी हैं जिन्होंने दो दिनों तक व्यर्थ मदद की गुहार लगाई, जो उन्हें नहीं मिली। संत पापा ने मदद नहीं कर पाने को शर्म की बात कही। उनके लिए प्रार्थना का आह्वान करते हुए कहा, "आइये हम उन भाई बहनों एवं उन सभी लोगों के लिए प्रार्थना करें जो इन यात्राओं में लगातार मर रहे हैं। हम उन लोगों के लिए भी प्रार्थना करें जो मदद कर सकते हैं किन्तु दूसरी ओर देखना पसंद करते हैं। हम उनके लिए मौन प्रार्थना करें।

बुलाहट के लिए विश्व प्रार्थना दिवस

उसके बाद संत पापा ने बुलाहट के लिए विश्व प्रार्थना दिवस की याद दिलाते हुए कहा, "आज पूरी कलीसिया में बुलाहट के लिए विश्व प्रार्थना दिवस मनाया जाता है, जिसकी विषयवस्तु है, 'संत जोसेफ : बुलाहट का स्वप्न'"। संत पापा ने कहा कि हम प्रभु को धन्यवाद देते हैं क्योंकि उन्होंने कलीसिया में उन लोगों को बुलाना जारी रखा है जो उनके प्रेम के लिए सुसमाचार के प्रचार एवं अपने भाई-बहनों की सेवा हेतु अपना जीवन समर्पित करते हैं, और आज खासकर, हम नये पुरोहितों के लिए धन्यवाद देते हैं जिनको मैंने थोड़ी देर पहले संत पेत्रुस महागिरजाघर में अभिषेक प्रदान किया है ... मैं नहीं जानता हूँ कि वे यहाँ उपस्थित हैं ... हम प्रभु से उनके खेत में काम करने हेतु अच्छे मजदूरों को भेजने एवं समर्पित जीवन में बुलाहट को बढ़ाने के लिए प्रार्थना करें।

ग्वाटेमाला के शहीदों की धन्य घोषणा

स्वर्ग की रानी प्रार्थना के उपरांत संत पापा ने पिछले शुक्रवार को ग्वाटेमाला के क्वीके के संत क्रूस में जोश मरिया ग्रान चिरेरा एवं उनके नौ साथी शहीदों की धन्य घोषणा की याद की। 

ये तीन पुरोहित एंव सात लोकधर्मी येसु के पवित्र हृदय के मिशनरी धर्मसमाज के थे जो 1980 और 1991 के बीच में गरीबों की रक्षा करने के कारण काथलिक कलीसिया में हो रहे अत्याचार के दौरान मार डाल गये थे। ख्रीस्त में विश्वास से प्रेरित होकर उन्होंने न्याय एवं प्रेम का साहसिक साक्ष्य दिया। उनका उदाहरण हमें सुसमाचार को जीने में अधिक उदार एवं साहसी बनाये। संत पापा ने ताली बजाकर नये धन्यों को श्रद्धांजलि दी।

संत पापा का अभिवादन

तब, संत पापा ने सभी विश्वासियों का अभिवादन किया, खासकर, उन्होंने नये पुरोहितों के रिश्तेदारों एवं मित्रों का अभिवादन किया। उन्होंने परमधर्मपीठीय जर्मानिक-हंगेरियन कॉलेज समुदाय की भी याद की, जिन्होंने सुबह में परम्परागत सात गिरजाघरों की तीर्थयात्रा पूरी की थी।  

अंत में, संत पापा ने अपने लिए प्रार्थना का आग्रह करते हुए सभी को शुभ रविवार की मंगलकामनाएँ अर्पित कीं।

25 April 2021, 16:34