खोज

Vatican News
वाटिकन सिटी वाटिकन सिटी 

कोविड संकट के कारण कार्डिनलों एवं विभाग प्रमुखों के वेतन में कटौती

वाटिकन ने कहा है कि कार्डिनलों के वेतन से 10%, विभाग प्रमुख एवं सचिवों के वेतन से 8% और पुरोहितों एवं धर्मसमाजियों के वेतन से 3% की कटौती की जायेगी। 4थी श्रेणी से ऊपर के वेतनधारी कर्मचारियों की वरिष्ठता में स्वतः वृद्धि भी प्रभावित होगी।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 24 मार्च 2021 (रेई)- संत पापा फ्राँसिस ने 24 मार्च को “मोतू प्रोप्रियो” अर्थात् स्वप्रेरणा से रचित पत्र की घोषणा कर वेतन में कटौती की घोषणा की।

"एक स्थायी आर्थिक भविष्य के लिए आज के समय में अन्य फैसलों की आवश्यकता के साथ, ऐसे उपाय अपनाये गये हैं जो कर्मचारियों के वेतन से संबंधित हैं"। इस वाक्य से शुरू होनेवाले मोतू प्रोप्रियो में संत पापा ने आनुपातिक और अनिश्चित काल के लिए वाटिकन में कार्यरत कार्डिनलों (10%), विभागों के प्रमुखों एवं सचिवों (8%) तथा सभी पुरोहितों एवं धर्मसमाजियों (3%) के वेतन में कटौती की घोषणा की है। 1 से 3 श्रेणी के वेतनधारी लोकधर्मी कर्मचारियों को छोड़ बाकी सभी कर्मचारियों के स्वतः वरिष्ठता वेतन वृद्धि 2023 तक रूक जायेंगे।

संत पापा यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि कर्मचारी नहीं हटाये जाएँगे। फिर भी, लागत को बरकारार रखना होगा। अतः उन्होंने कुछ सामंजस्य के साथ आनुपातिक और अनिश्चित काल के उपाय को अपनाने का निश्चय किया है, खासकर, याजकों, धर्मसमाजियों और उच्च वेतनधारी कर्मचारियों के लिए।

मोतू प्रोप्रियो के अनुसार पोप का निर्णय "परमधर्मपीठ के वित्तीय प्रबंधन को प्रभावित करनेवाले वर्षों के घाटे" से प्रेरित है और सबसे बढ़कर यह स्थिति महामारी के कारण उत्पन्न हुई है। जिसने परमधर्मपीठ एवं वाटिकन सिटी के लिए आमदनी के स्रोत पर नकारात्मक रूप से प्रभाव डाला है। इन प्रावधानों का अन्य उपायों के साथ उद्देश्य है कि कलीसिया के केंद्रीय कार्यालयों के मिशन के लिए स्थायी वित्तीय भविष्य को सहयोग दिया जा सके।  

यह प्रावधान को 1 अप्रैल 2021 से लागू किया जाएगा जिसके अनुसार कार्डिनलों के वेतन से 10% कम किया जाएगा। वाटिकन सिटी, परमधर्मपीठ एवं इनसे जुड़ी संस्थाओं में वेतन के स्तर C और C1 के साथ कानून द्वारा विनियमित वेतनधारी – जिसमें विभागों के प्रमुख एवं परिषदों के सचिव आते हैं उनके वेतन से 8% कम किया जाएगा। वेतन में 3% की कटौती उन कर्मचारियों पर लागू होगी जो पुरोहित अथवा धर्मसमाजी कर्मचारी हैं और जिनका वेतन श्रेणी C2 है। असाधारण मामलों में कटौती का नियम लागू नहीं होगा जिसमें स्वास्थ्य पर खर्च शामिल है।  

एक अन्य उपाय, वाटिकन सिटी, परमधर्मपीठ एवं उनसे जुड़ी संस्थाओं में सेवारत सभी कर्मचारियों के लिए लागू है। वरिष्ठता से जुड़े स्वचालित द्विवार्षिक वेतन 1 अप्रैल 2021 से 31 मार्च 2023 तक फ्रीज किए जाएंगे। हालांकि यह 4थी श्रेणी से ऊपर के वेतनधारी कर्मचारियों पर लागू होगा, जिनके वेतन सबसे कम है उनपर नहीं।   

ये उपाय रोम विखारियट, संत पेत्रुस महागिरजाघर, संत जॉन लातेरन और संत मरिया मेजर महागिरजाघर, संत पेत्रुस का कारखाना एवं संत पौल महागिरजाघर पर भी लागू होगा।

25 March 2021, 14:40