खोज

Vatican News
प्राचीन रोमन आइकन सालुस पोपुली रोमानी (रोम की संरक्षिका माता मरियम) प्राचीन रोमन आइकन सालुस पोपुली रोमानी (रोम की संरक्षिका माता मरियम)  (AFP or licensors)

संत पापा ने इराक के दौरे को माता मरियम की सुरक्षा में सौंपा

संत पापा फ्राँसिस ने अपने इराक के प्रेरितिक दौरे की सफलता एवं सुरक्षा के लिए मारिया सालुस पोपुली रोमानी के प्राचीन आइकन के सामने प्रार्थना की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, गुरुवार 4 मार्च 2021 (वाटिकन न्यूज) : इराक की विदेश यात्रा की पूर्व संध्या पर अपनी परंपरा के अनुसार, संत पापा फ्राँसिस ने गुरुवार दोपहर को रोम के संत मरिया मेजर महागिरजाघर का दौरा किया। उन्होंने प्राचीन रोमन आइकन सालुस पोपुली रोमानी (रोम की संरक्षिका माता मरियम) से प्रार्थना की। संत पापा ने अपनी आगामी इराक प्रेरितिक यात्रा को माता मरियम की सुरक्षा में सिपुर्द किया।

संत पापा फ्राँसिस विदेश में अपनी 33 वीं प्रेरितिक यात्रा के लिए शुक्रवार 5 मार्च की सुबह रोम से इराक के लिए प्रस्थान करने वाले हैं। दो दिन के दौरे के बाद संत पापा 8 मार्च सोमवार को वापस रोम लौटेंगे।

प्राचीन रोमन आइकन की भक्ति

संत पापा फ्राँसिस ने "मारिया सालुस पोपुली रोमानी" की प्राचीन छवि के नीचे वेदी पर फूलों का एक गुलदस्ता रखा था, जो बोरगेज चैपल में रखा गया है।

परंपरा यह मानती है कि संत पापा ग्रेगोरी महान के शासनकाल के दौरान 590 ईस्वी में इसे रोम आया था।

मारिया सालुस पोपुली रोमानी ने दो बार एक विहित राज्याभिषेक प्राप्त किया है।

संत पापा ग्रेगोरी सोलहवें ने 1838 में माता मरिया की छवि को ताज पहनाया और संत पापा पियुस बारहवें ने 1954 के मरियं वर्ष के दौरान ताज पहनाने की रीति को दोहराया।

वाटिकन संग्रहालय ने 2018 में ताज को साफ किया और पुनर्स्थापित किया।

04 March 2021, 21:15