खोज

Vatican News
यूगांडा में पाने का पानी ले जाते लोग यूगांडा में पाने का पानी ले जाते लोग 

संत पापा ने सभी के लिए शुद्ध पेयजल एवं स्वच्छता की अपील की

देवदूत प्रार्थना के उपरांत संत पापा ने विश्वासियों का अभिवादन करते हुए विश्व जल दिवस एवं इटली में याद किये जाने वाले माफिया के शिकार लोगों का स्मरण किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, रविवार, 21 मार्च 2021 (रेई)- संत पापा ने विश्व जल दिवस की याद की जिसको कल मनाया जाएगा। उन्होंने कहा, "कल विश्व जल दिवस है जो निमंत्रण देता है कि हम ईश्वर के इस अदभुद एवं अपूरणीय उपहार के मूल्य पर चिंतन करें। हम विश्वासियों के लिए "बहन पानी" कोई माल नहीं, बल्कि एक विश्वव्यापी प्रतीक एवं जीवन तथा स्वास्थ्य का स्रोत है। बहुत सारे भाइयों एवं बहनों के लिए पानी की बहुत कम मात्रा उपलब्ध है और शायद प्रदूषित जल ही। यह आवश्यक है कि सभी के लिए पेयजल एवं स्वच्छता का जल उपलब्ध हो। संत पापा ने उन सभी लोगों को धन्यवाद देते हुए प्रोत्साहन दिया जो विभिन्न पेशेवर कुशलता और जिम्मेदारी से इस अत्यन्त महत्वपूर्ण उद्देश्य हेतु  कार्य करते हैं। संत पापा ने "जल के विश्वविद्यालय" की याद की जो इस कार्य को आगे बढ़ाने के लिए कार्य करता है एवं पानी के महत्व की समझ लोगों को दे रहा है। उन्होंने कहा, "बहुत-बहुत धन्यवाद, आप अर्जेंटीना वासियों को जो इस जल के विश्वविद्यालय में कार्य करते हैं।"

माफिया के शिकार लोगों की याद

संत पापा ने कहा, "आज इटली में माफिया के निर्दोष शिकार लोगों की यादगारी एवं प्रतिबद्धता का दिवस मनाया जाता है। माफिया के लोग दुनिया के विभिन्न हिस्सों में मौजूद हैं और महामारी का फायदा उठा रहे हैं, वे भ्रष्टाचार के द्वारा अपने आपको धनी बना रहे हैं। संत पापा जॉन पौल द्वितीय ने उन्हें मौत की संस्कृति और संत पापा बनेडिक्ट 16वें ने उन्हें "मौत के रास्ते" कहा है। ये पाप के ताने-बाने, माफिया के ताने-बाने, ख्रीस्त के सुसमाचार के विपरीत हैं, विश्वास के बदले मूर्तिपूजा को अपनाते हैं।" संत पापा ने माफिया के शिकार सभी लोगों की याद करते हुए माफिया के खिलाफ संघर्ष को नवीकृत करने का आह्वान किया।"

तब संत पापा ने विभिन्न संचार माध्यमों से अपने साथ जुड़े सभी विश्वासियों का अभिवादन किया, खासकर उन्होंने अकेले बीमार पड़े लोगों की याद की।  

और अंत में अपने लिए प्रार्थना का आग्रह करते हुए सभी को शुभ रविवार की मंगलकामनाएँ अर्पित की।

21 March 2021, 13:54