खोज

Vatican News
इराक में संत पापा के स्वागत की तैयारी इराक में संत पापा के स्वागत की तैयारी  (AFP or licensors)

संत पापा ने अपनी इराक की यात्रा के लिए प्रार्थना की अपील की

संत पापा फ्राँसिस ने अपनी इराक की प्रेरितिक यात्रा की सफलता के लिए सभी विश्वासियों से प्रार्थना की अपील की। संत पापा 5 से 8 मार्च तक इराक की प्रेरितिक यात्रा कर रहे हैं।

 माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार 3 मार्च 2021 (वाटिकन न्यूज) : : संत पापा फ्राँसिस ने बुधवारीय आम दर्शन के दौरान अपनी इराक की चार दिवसीय प्रेरितिक यात्रा में विश्वासियों को प्रार्थना द्वारा उनके साथ शामिल होने के लिए कहा, ताकि यह मध्य पूर्वी राष्ट्र के लिए फलप्रद हो सके।

संत पापा ने कहा, ʺयदि ईश्वर की इच्छा है, तो परसों, मैं तीन दिन की तीर्थ यात्रा के लिए इराक जाऊंगा। एक लंबे समय से मैं उन लोगों से मिलना चाहता हूँ, जिन्होंने बहुत कष्ट झेला है; अब्राहम की भूमि में उस शहीद कलीसिया से मिलना चाहता हूँ। अन्य धार्मिक नेताओं के साथ मिलकर हम विश्वासियों के भाईचारे में एक और कदम आगे बढ़ाएंगे। मेरी इस प्रेरितिक यात्रा में मैं आपको अपनी प्रार्थना द्वारा मेरा साथ देने के लिए आमंत्रित करता हूँ, ताकि यह यात्रा सफल हो सके और वांछित फल उत्पन्न कर सकें।ʺ

संत पापा ने कहा, ʺइराकी लोग हमारा इंतजार कर रहे हैं, वे संत पापा जॉन पॉल द्वितीय की प्रतीक्षा भी कर रहे थे जिन्हें अंतिम समय में वहाँ जाने से मना किया गया था। पिछले समय के समान मैं उन लोगों को निराश नहीं कर सकता। आइए, हम प्रार्थना करें कि यह यात्रा अच्छी तरह से संपन्न हो।ʺ

संत पापा जॉन पॉल द्वितीय

सन् 1999 ई. में संत पापा जॉन पॉल द्वितीय ने उर के लिए एक छोटी लेकिन महत्वपूर्ण तीर्थयात्रा की योजना बनाई, जो कि मुक्ति के स्थानों के लिए वर्ष 2000 की जुबली यात्रा का पहला चरण था। लेकिन उस दिन इराकी राष्ट्रपति के विरोध के कारण, धार्मिक प्रकृति की यात्रा विशेष रूप से उर की यात्रा नहीं हो पाई। उर, वर्तमान समय में दक्षिणी इराक का अल-मुकय्यर शहर है जहां बाइबिल के अनुसार अब्राहम ने ईश्वर का वचन सुना था।

03 March 2021, 14:05