खोज

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस महागिरजाघऱ में कार्डिनल साको और धर्माध्यक्षों के साथ संत पापा फ्राँसिस महागिरजाघऱ में कार्डिनल साको और धर्माध्यक्षों के साथ 

मैं शांति के तीर्थयात्री के रूप में इराक आया हूँ, संत पापा

संत पापा फ्राँसिस ने शुक्रवार 5 मार्च को इराक की प्रेरितिक यात्रा के दौरान तीन ट्वीट कर सभी विश्वासियों को अपने मतभेदों से उपर उठने और एक दूसरे को एक ही मानव परिवार के सदस्यों के रूप में देखने हेतु प्रेरित किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

बगदाद, शुक्रवार 5 मार्च 2021 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस शुक्रवार 5 मार्च को इराक की प्रेरितिक यात्रा शुरु की। संत पापा ने बगदाद के राष्ट्रपति भवन में देश के राष्ट्रपति, सरकार और राजनयिकों, प्रतिष्ठित अधिकारियों और नागर समाज के प्रतिनिधियों से मुलाकात कर अपना संदेश दिया। इसी के मद्देनजर संत पापा ने दो ट्वीट किया जो इस प्रकार है।

1ला ट्वीट

संत पापा संदेश में लिखते हैं, मैंʺ एक पश्चातापी के रूप में (इराक) आता हूँ । मैं स्वर्ग और हमारे भाइयों से विनाश और क्रूरता के लिए क्षमा मांगता हूँ। मैं शांति के राजकुमार मसीह के नाम पर शांति के तीर्थयात्री के रूप में आया हूँ।  इन सालों में, इराक में शांति के लिए हमने कितनी ही दुआएं की हैं! ईश्वर हमेशा सुनते हैं। उसके मार्ग पर चलने के लिए हमारे ऊपर निर्भर करता है।ʺ

2रा ट्वीट

संत पापा ने संदेश में लिखा,  ʺअगर हम अपने मतभेदों से परे देख सकते हैं और एक दूसरे को एक ही मानव परिवार के सदस्यों के रूप में देखते हैं, तो हम पुनर्निर्माण की एक प्रभावी प्रक्रिया शुरू करने और भविष्य की पीढ़ियों के लिए बेहतर, अधिक न्यायपूर्ण और अधिक मानवीय दुनिया में छोड़ने में सक्षम होंगे।ʺ #प्रेरितिक यात्रा इराक

3रा ट्वीट

संत पापा ने बगदाद स्थित "आवर लेडी ऑफ सालवेशन" नामक माता मरिया महागिरजाघर में ईराक के धर्माध्यक्षों, पुरोहितों, धर्मसमाजियों एवं धर्मसंघियों को सम्बोधित किया। इसी दौरान संत पापा ने इसी महागिरजाघर में शहीद हुए ख्रीस्तियों को याद किया।

तीसरे ट्वीट में संत पापा ने लिखा, ʺ आइ, हम अपने भाइयों और बहनों को याद करें जिन्होंने प्रभु के प्रति अपनी निष्ठा की अत्यधिक कीमत चुकाई है। उनके बलिदान ने हमें क्रूस की ताकत और क्षमा, मेल-मिलाप और पुनर्जन्म के संदेश को बचाने के लिए प्रेरित किया है।ʺ #प्रेरितिक यात्रा इराक

05 March 2021, 16:34