खोज

Vatican News
प्रार्थना में खुले हाथ प्रार्थना में खुले हाथ 

हम किसी भी क्षण और कहीं भी प्रार्थना कर सकते हैं, संत पापा

संत पापा फ्राँसिस ने बुधवार को दो ट्वीट कर हर समय प्रार्थना करने के लिए प्रेरित किया, साथ ही अन्य ट्वीट में भारत के आपदा पीड़ित लोगों के प्रति अपना संवेदना प्रकट की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार 10 फरवरी 2021(रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने बुधवारीय आमदर्शन समरोह के दौरान प्रार्थना पर धर्मशिक्षा दी। इसी के मद्देनजर संत पापा ने ट्वीट कर सभी विश्वासियों को अपने दैनिक जीवन में किसी भी समय प्रार्थना करने हेतु प्रेरित किया।

1ला ट्वीट

संदेश में उनहोंने लिखा, ʺजो व्यक्ति प्रार्थना करता है, वह व्यक्ति के समान है जो जहाँ कहीं भी जाता, अपने दिल में अपने प्रिय को साथ लिये जाता है। इसलिए हम किसी भी क्षण और कहीं भी प्रार्थना कर सकते हैं, सड़क पर, कार्यालय में, सार्वजनिक परिवहन पर, शब्दों के माध्यम से और हमारे दिलों की खामोशी में।ʺ # प्रार्थना

2रा ट्वीट

संत पापा ने उतरी भारत के आपदा पीड़ित लोगों के प्रति अपना संवेदना प्रकट करते हुए ट्वीट किया।

संदेश में उनहोंने लिखा, ʺमैं भारत में हुई आपदा के पीड़ितों के प्रति अपनी घनिष्ठता व्यक्त करता हूँ, जहां ग्लेशियर का एक हिस्सा टूटने के कारण हिंसक बाढ़ आई, जिसने दो बिजली संयंत्रों के निर्माण स्थलों को विध्वंस कर दिया। मैं मृत श्रमिकों और उनके परिवारों तथा सभी घायल और क्षतिग्रस्त लोगों के लिए प्रार्थना करता हूँ।ʺ

10 February 2021, 14:48