खोज

Vatican News
येरुसालेम शहर येरुसालेम शहर  (AFP or licensors)

पवित्र भूमि आयोग संस्थान की 600वीं वर्षगांठ पर संत पापा का संदेश

संत पापा फ्राँसिस ने पवित्र भूमि आयोग संस्थान की 600 वीं वर्षगांठ के संदेश में पवित्र भूमि की महत्वपूर्ण सेवा पर प्रकाश डाला।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार 13 फरवरी 2021(वाटिकन न्यूज) : शुक्रवार को संत पापा फ्राँसिस ने रविवार को हो रहे पवित्र भूमि के आयोगों के संस्थान की 600वीं वर्षगांठ के लिए एक संदेश भेजा।

संत पापा फ्राँसिस ने पवित्र भूमि के आयोग संस्थान के संरक्षक (सुपीरियर)  ब्रदर फ्रांचेस्को पैटन, ओएफएम को संबोधित पत्र में लिखा, "रविवार 14 फरवरी को संत पापा मार्टिन पांचवे द्वारा शुरु की गई पवित्र भूमि के आयोगों की संस्था की 600 वीं वर्षगांठ है।"

संत पापा ने कहा, ʺइन सभी शताब्दियों के बाद भी, आयोग संस्थान का मिशन अभी भी प्रासंगिक है: प्रेरितिक, आध्यात्मिक और उदार संबंधों का एक नेटवर्क बनाकर पवित्र भूमि याने येसु की भूमि की अभिरक्षा के मिशन को बढ़ावा देना, उनका समर्थन करना और प्रचार करना आपके मिशन का केंद्र में है।ʺ

 उनकी "कीमती सेवा" के लिए अपने समर्थन को दोहराते हुए और उनपर अपना आशीर्वाद देते हुए, संत पापा ने आशा व्यक्त की कि यह "जल्द ही भ्रातृत्व का बीज बने।"

संत पापा ने अपने संदेश को समाप्त करते हुए कहा, "मैं तहे दिल से आप सभी को आशीर्वाद देता हूँ और आप भी मेरे लिए प्रार्थना करना न भूलें।"

पवित्र भूमि को सहायता

संत पापा के संदेश के प्रति संरक्षक, ब्रदर फ्रांचेस्को ने संस्थान के सदस्यों की ओर से पत्र लिखकर संत पापा फ्राँसिस को 600वीं शताब्दी समारोह की शुभकामनाओं और निकटता के लिए धन्यवाद दिया।

उन्होंने उल्लेख किया कि आज भी, आयोग की सेवा अनमोल है और कई मायनों में अपूर्णीय है, क्योंकि यह पवित्र भूमि और इसकी वास्तविकताओं को ज्ञात कराने का कार्य करता है। यह पवित्र स्थानों की यात्रा करने के लिए तीर्थयात्रियों के समूहों को प्रोत्साहित करने, संगठित करने और उनके साथ पवित्र भूमि की दर्शनीय स्थानों से तीर्थयात्रियों को अवगत कराने वगैरह उनकी सेवा पर भी प्रकाश डालता है। मिशन के लिए वार्षिक "पवित्र भूमि के लिए संग्रह" और आर्थिक सहायता के अन्य रूपों को बढ़ावा देता है और पवित्र भूमि की सेवा के लिए बुलाहट को भी प्रोत्साहित करता है।

 ब्रदर फ्रांचेस्को ने संत पापा को सूचित किया कि येरुसालेम में 15 फरवरी को सुबह 6:30 बजे, होली सेपुलकर (पवित्र समाधि) गिरजाघर में 600 साल की सेवा और सभी सेवा करने वालों की याद में पवित्र यपखरिस्त समारोह का अनुष्ठान किया जाएगा। उन्होंने इस अवसर पर संत पापा के संदेश को पढ़ने तथा उनके लिए और उनकी प्रेरिताई के लिए, साथ ही सभी लोगों के बीच एकता और बंधुत्व के लिए प्रार्थना करने का आश्वासन दिया।

अपने पत्र के अंत में संरक्षक ने विशेष रूप से पूर्वी कलीसियाओं के धर्मसंध और प्रीफेक्ट के माध्यम से प्राप्त सभी समर्थन के लिए संत पापा के धन्यवाद दिया।

  पवित्र भूमि के आयोग संस्थान

1421 में संत पापा मार्टिन पांचवे द्वारा येसु के जन्म स्थान में पवित्र भूमि के मिशनों का समर्थन करने और पवित्र भूमि के लिए आर्थिक सहायता प्राप्त करने के लिए पवित्र भूमि के आयोग (फ्राँसिसकन) संस्थान को स्थापित किया गया था।

पवित्र भूमि के आयोग (फ्राँसिसकन) संस्थान को पवित्र भूमि की सेवा देने की जिम्मेदारी सौंपी गई। शुरु में फ्राँसिस्कन बंधुओं ने लोक धर्मियों को पवित्र भूमि के लिए "आर्थिक सहायता" प्राप्त करने की जिम्मेदारी दी । परंतु बाद में इसकी जिम्मेदारी अपने हाथों ले लिया।

वर्तमान में, दुनिया के 60 देशों में पवित्र भूमि के 67 आयोगों के संस्थान हैं। वे पवित्र भूमि और स्थानीय कलीसिया के मिशन के बीच एक पुल का प्रतिनिधित्व करते हैं । 26 दिसंबर 1887 को संत पापा लियो तेरहवें द्वारा स्थापित किए गए "कोलेक्टा प्रो लोकिस सांक्टिस"(पवित्र भूमि के लिए संग्रह) हर साल पवित्र शुक्रवार को पवित्र भूमि के समर्थन के लिए जमा किया जाता है।

13 February 2021, 13:30