खोज

Vatican News
मार्टिन लूथर किंग जूनियर दिवस पर राजधानी में उन्हें सम्मानित किया गया। मार्टिन लूथर किंग जूनियर दिवस पर राजधानी में उन्हें सम्मानित किया गया।  (2021 Getty Images)

संत पापा ने की मार्टिन लूथर किंग की अहिंसा की विरासत का समर्थन

संत पापा फ्रांसिस ने डॉ. मार्टिन लूथर किंग के जीवन एवं उपलब्धियों के स्मारक सेवा सम्मान में भाग लेनेवाले प्रतिभागियों को संदेश भेजा तथा ईश्वर के सभी बच्चे-बचियों को प्रोत्साहन दिया कि वे शांति निर्माता बनें।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 18 जनवरी 2021 (रेई)- डॉ. मार्टिन लूथर किंग जूनियर के जीवन और उपलब्धियों को सम्मानित करनेवाली स्मारक सेवा को रेखांकित करने हेतु संत पापा फ्राँसिस ने समारोह में भाग लेनेवाले सभी प्रतिभागियों को एक संदेश भेजा जिसमें उन्होंने डॉ. किंग के, सभी लोगों के प्रति सौहार्द एवं समानता की भावना हेतु उनके शांतिपूर्ण कार्यों की याद की।

डॉ. मार्टिन लूथर किंग, जूनियर के जीवन और विरासत पर 18 जनवरी को "प्रिय सामुदायिक स्मरणीय सेवा" सप्ताह के उत्सव का समापन हुआ।

बेर्नीस किंग : पोप और मेरे पिताजी, एक ही स्वप्न में जुड़े 

संत पापा ने अपने संदेश में उत्सव में भाग लेनेवाले सभी प्रतिभागियों का हार्दिक अभिवादन किया है एवं उन्हें शुभकामनाएँ दी हैं।

उन्होंने लिखा है, "आज के विश्व में जो सामाजिक अन्याय, विभाजन और संघर्ष का बहुत अधिक सामना कर रहा है जो सार्वजनिक कल्याण को साकार होने नहीं देता, डॉ. किंग का स्वप्न सभी लोगों के लिए सौहार्द एवं समानता का था जिसको उन्होंने अहिंसा एवं शांतिमय तरीकों से प्राप्त करने की कोशिश की जो हमेशा बना रहेगा।"

संत पापा ने अपने प्रेरितिक विश्व पत्र "फ्रतेल्ली तूत्ती" का हवाला देते हुए कहा है, "हम प्रत्येक जन नहीं बांटने बल्कि एकता लाने के दवारा शांति के निर्माता बनने हेतु बुलाये गये हैं। घृणा को बुझाने और उसे नहीं पकड़े रहने के द्वारा वार्ता के रास्ते को खोलने के लिए निमंत्रित किये गये हैं।"

"इस तरह, हम सर्वशक्तिमान ईश्वर की संतान के रूप में लोगों को "दूसरे" की तरह नहीं बल्कि साझा गरिमा की सच्चाई में पड़ोसियों की तरह देखेंगे। इस स्वप्न को हरेक दिन साकार करने के प्रयास द्वारा ही हम न्याय एवं भाईचारा पूर्ण प्रेम पर निर्मित समुदाय के निर्माण हेतु एक साथ कार्य कर पायेंगे।"

संत पापा ने अपने संदेश के अंत में स्मारक सेवा उत्सव में उपस्थित सभी लोगों पर प्रज्ञा एवं शांति के दिव्य आशीष की कामना की।

19 January 2021, 15:37