खोज

Vatican News
वेनेजुएला में गिरजाघर के बाहर प्रदर्शन करते लोग वेनेजुएला में गिरजाघर के बाहर प्रदर्शन करते लोग 

कोविड-19 एवं गरीबी से पीड़ित वेनेजुएला के लिए पोप की प्रार्थना

कार्डिनल बल्थाज़ार पोर्रास कारदोजो को लिखे पत्र में संत पापा फ्राँसिस ने वेनेजुएला के लोगों के प्रति अपना सामीप्य व्यक्त किया है जो महामारी एवं गरीबी के कारण पीड़ित हैं।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 9 जनवरी 2021 (रेई)- संत पापा फ्राँसिस ने मेरीदा के महाधर्माध्यक्ष एवं काराकास के प्रेरितिक प्रशासक, वेनेजुएला के कार्डिनल बल्थाज़ार पोर्रास कारदोजो को 6 जनवरी को उनके नाम दिवस की याद करते हुए एक संदेश भेजा। अपने पत्र में संत पापा ने बेनेजुएला के लोगों के प्रति अपना सामीप्य व्यक्त किया है जो हाल के वर्षों में और खासकर, इन दिनों कोविड-19 महामारी के कारण भारी मानवीय एवं सामाजिक आर्थिक संकट के शिकार हुए हैं।

एक पिता का हृदय

संत पापा ने लिखा, "ईश्वर आपको बल एवं साहस (पार्रेसिया) प्रदान करता रहे ताकि आप एक पिता के हृदय के साथ, उनके विश्वासी प्रजा को, साथ एवं सांत्वना दे सकें जो महामारी की विपत्ति, सत्ताधारियों की उदंडता एवं शक्तिहीन कर देनेवाली बढ़ती गरीबी से पीड़ित और परेशान हैं।"

बल्थाज़ार की याद

कार्डिनल का नाम बल्थाजार है जो तीन ज्योतिषियों में से एक का नाम है जिसको पूर्व का ज्ञानी व्यक्ति भी कहा जाता है। मेलक्योर और गास्पर के साथ बल्थाज़ार ने येसु के जन्म के बाद उनका दर्शन किया था और उन्हें सोना, लोबान एवं गंधरस की भेंट की थी। काथलिक विश्वासी इस घटना की याद प्रभु प्रकाश पर्व के दिन 6 जनवरी को करते हैं। इस दिन को ज्योतिषियों के रूप में गैर यहूदियों के बीच प्रभु येसु का पहली बार प्रकट होना माना जाता है।  

संत पापा ने गौर किया कि प्रभु प्रकाश पर्व, ईश्वर की विनम्रता को प्रकट करता है जो दुनिया को ढंकने वाले अंधकार को दूर करने के लिए प्रकाश बन गये। उन्होंने वेनेजुएला के कार्डिनल का अभिवादन करते हुए उनके एवं उनकी प्रेरिताई के लिए प्रार्थना की। अंततः उन्होंने अपना प्रेरितिक आशीर्वाद दिया तथा उन्हें धन्य कुँवारी मरियम एवं संत जोसेफ के संरक्षण तथा पवित्र एवं ज्ञानी राजा बल्थाज़ार को सिपुर्द किया।

वेनेजुएला में संकट

पूरे वैश्विक तेल संसाधन के 17.5% हिस्से के साथ, वेनेजुएला के पास दुनिया में सबसे बड़ा जीवाश्म-ईंधन का भंडार है। फिर भी, दक्षिण अमेरिकी राष्ट्र वर्षों से आर्थिक संकट की चपेट में है। जिसने भोजन और चिकित्सा की कमी उत्पन्न की है और वेनेजुएला के करीब पांच मिलियन से अधिक लोग दूसरे देशों में विस्थापित होने के लिए मजबूर हुए हैं।

राष्ट्रपति निकोलस मादुरो की सरकार के साथ यह एक राजनीतिक संकट में बदल गया है और जुआन गुएदो के नेतृत्व में विपक्ष एक कड़वे संघर्ष में बंद हो गया है। 23 जनवरी 2019 को गुएदो ने खुद को राष्ट्रपति घोषित किया था।

बेनेजुएला कोविड-19 महामारी से भी जूझ रहा है और संक्रमण के करीब 1,15,000 मामले दर्ज किये गये हैं जबकि 1,052 लोगों की मौत हो चुकी है।

09 January 2021, 13:12