खोज

Vatican News
चरनी चरनी  (ANSA)

31 दिसम्बर को संत पापा का ट्वीट संदेश

संत पापा फ्राँसिस ने 31 दिसम्बर के ट्वीट संदेश में ख्रीस्त जयन्ती को शरीरधारण का पर्व कहा।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 31 दिसम्बर 20 (रेई)- संत पापा फ्रांसिस ने क्रिसमस के एक सप्ताह बाद 31 दिसम्बर को महापर्व के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा,  "ख्रीस्त जयन्ती प्रेम के शरीरधारण का पर्व है जो येसु ख्रीस्त के रूप में जन्मे। वे अंधकार में चमकने वाले मानवता के प्रकाश हैं, मानव अस्तित्व एवं सम्पूर्ण इतिहास को अर्थ प्रदान करते हैं।"  

 

31 December 2020, 15:12