खोज

Vatican News
चरनी का दृश्य चरनी का दृश्य 

मुक्तिदाता के आगमन की आनन्दमय प्रतीक्षा

संत पापा ने ख्रीस्त जयन्ती के करीब आने पर प्रभु से प्रार्थना की है कि वे हमारे हृदय को आशा और आनन्द से भर दें।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 22 दिसम्बर 2020 (रेई)- कोविड-19 महामारी के कारण परिस्थितियाँ बदल गयी हैं। लोगों को कई प्रकार की पाबंदियों का सामना करना पड़ रहे हैं। कई लोगों को क्रिसमस के मिस्सा समारोह में भी भाग लेने का अवसर नहीं मिलेगा। ऐसे समय में धीरज नहीं खोना कठिन काम है।  

संत पापा ने ख्रीस्त जयन्ती के करीब आने पर प्रभु से प्रार्थना की कि वे हमारे हृदय को आशा और आनन्द से भर दें। उन्होंने 22 दिसम्बर को ट्वीट संदेश में लिखा, "हमारे मुक्तिदाता के आगमन की आनन्दमय प्रतीक्षा जो हमारे समान मनुष्य बने, हमारे हृदयों को आशा और शांति से भर दे।"

संत पापा के संदेश वाटिकन की लाईब्रेरी से

वाटिकन प्रेस कार्यालय ने जानकारी दी है कि कोविड-19 महामारी के कारण लगे प्रतिबंधों को ध्यान में रखते हुए 25 दिसम्बर को ख्रीस्त जयन्ती महापर्व के अवसर पर क्रिसमस संदेश एवं उर्बी एत ओरबी (रोम एवं विश्व के लिए) आशीष को संत पापा फ्रांसिस वाटिकन के प्रेरितिक प्रासाद के आशीष भवन से प्रदान करेंगे। वे 26 और 27 दिसम्बर एवं 1,3 और 6 जनवरी 2021 के देवदूत प्रार्थना को वाटिकन की लाईब्रेरी से प्रसारित करेंगे।

22 December 2020, 15:13