खोज

Vatican News
नाइजीरिया में आतंकवादी नरसंहार के विरोध में प्रदर्शन नाइजीरिया में आतंकवादी नरसंहार के विरोध में प्रदर्शन  (ANSA)

संत पापा की अपील नाइजीरिया के लिए एवं नरसंहार की स्मृति

संत पापा फ्राँसिस ने नाइजीरिया के लिए प्रार्थना की अपील की, जहां आतंकवादियों के एक समूह ने देश के पूर्वोत्तर में 100 से अधिक खेत मजदूरों को मार डाला। संत पापा ने एल सल्वाडोर में मारे गए चार उत्तरी अमेरिकी मिशनरियों की मौत की चालीसवीं वर्षगांठ को याद किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार 02 दिसम्बर 2020 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने वाटिकन में प्रेरितिक भवन पुस्तकालय से बुधवारीय आमदर्शन के दौरान नाइजीरिया के लोगो के लिए प्रार्थना की अपील की।

आतंकवादी नरसंहार

संत पापा ने कहा, ʺमैं नाइजीरिया वासियों के लिए अपनी प्रार्थनाओं को आश्वस्त करना चाहता हूँ, दुर्भाग्यवश अभी भी एक आतंकवादी नरसंहार हो रहा है। पिछले शनिवार को देश के उत्तर-पूर्व में सौ से अधिक किसानों को बेरहमी से मार दिया गया था। ईश्वर उनकी आत्मा को अनंत शांति प्रदान करें और उनके परिवार को सांत्वना दे। ईश्वर उन लोगों के दिलों को परिवर्तित करें, जो ईश्वर के नाम पर ऐसी भयावहता को अंजाम देते हैं।ʺ

विदित हो कि आतंकवादियों के एक समूह ने शनिवार को बोरने राज्य के जाबारमारी गाँव के 100 से अधिक खेत मजदूरों को खेत में हत्या कर दी। गवाहों का कहना है कि कई मजदूरों का सिर काटे गये थे।

एल सल्वाडोर में शहीद चार मिशनरी

संत पापा ने एल सल्वाडोर में शहीद हुए चार उत्तरी अमेरिकी मिशनरियों को भी याद किया।

संत पापा ने कहा, ʺआज एल सल्वाडोर में मारे गए चार उत्तरी अमेरिकी मिशनरियों की मौत की चालीसवीं वर्षगांठ है: मैरीनकॉल की धर्मबहनें इता फोर्ड और मौर क्लार्क, उर्सुलाइन धर्मबहन डोरोथी कज़ेल और स्वयंसेवक जीन डोनोवन। 2 दिसंबर, 1980 को अर्धसैनिकों के एक समूह द्वारा उनका अपहरण और बलात्कार करने के बाद उनकी हत्या कर दी गई थी। उन्होंने गृह युद्ध के संदर्भ में एल सल्वाडोर में सेवा की।

सुसमाचार प्रचार की प्रतिबद्धता में महान जोखिम लेने के साथ-साथ, वे विस्थापितों के लिए भोजन और दवाइयां और गरीब परिवारों की मदद किया करती थीं। इन महिलाओं ने बड़ी उदारता के साथ अपने विश्वास को जीया। वे सभी मिशनरियों के लिए एक आदर्श बन गयी हैं।ʺ

02 December 2020, 14:15