खोज

Vatican News
वाटिकन द्वारा गरीबों के लिए संचालित क्लीनिक में संत पापा का दौरा वाटिकन द्वारा गरीबों के लिए संचालित क्लीनिक में संत पापा का दौरा  (ANSA)

गरीबों के लिए विश्व दिवस के पूर्व संत पापा का ट्वीट संदेश

15 नवम्बर को गरीबों के लिए विश्व दिवस मनाया जाएगा।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 14 नवम्बर 2020 (रेई)- संत पापा फ्राँसिस ने गरीबों की सेवा को प्रोत्साहन देते हुए 14 नवम्बर के ट्वीट संदेश में लिखा, "प्रभु की आशीष हमपर बरसती है और प्रार्थना पूर्ण होती है जब इसे गरीबों की सेवा के साथ की जाती है।"

गरीबों के लिए चौथे विश्व दिवस की विषयवस्तु है, "हाथ बढ़ा कर दरिद्र को दान दो" (प्रवक्ता 7:36) जिसको प्रवक्ता ग्रंथ से लिया गया है।

संत पापा ने गरीबों के लिए विश्व दिवस हेतु प्रकाशित अपने संदेश में कहा है कि हाथ बढ़ाकर दरिद्रों को दान देना, उन लोगों को चुनौती देता है जो अपना हाथ अपने पॉकेट में रखना पसंद करते हैं और गरीबों की स्थिति से द्रवित नहीं होते। उदासीनता और कुटिलता ही उनका दैनिक भोजन है। उदार हाथ बहुत अधिक परिवर्तन ला सकता है।

संत पापा ने संदेश में खेद व्यक्त करते हुए कहा है कि कुछ हाथ ऐसे हैं जो हथियार बेचकर पैसा कमाने के लिए बढ़ते हैं जिसके द्वारा वे मृत्यु और गरीबी बोते हैं।  

वहीं कुछ हाथ अमीर बनने और विलासिता में जीने के लिए, भ्रष्ट लाभ हेतु चुपचाप रिश्वत देने और अंधेरे की गलियों में मौत का सौदा करने के लिए उठते हैं। कुछ हाथ ऐसे भी हैं जो अपनी जिम्मेदारियों को शर्मनाक तरीके से पूरा करने हेतु कानून बनाने के लिए उठते हैं जिनका पालन वे खुद नहीं करते।

संत पापा ने संदेश में परोपकार का प्रोत्साहन देते हुए प्रवक्ता ग्रंथ के उस वाक्य की याद दिलायी है, "सब बातों में अपनी अंतगति याद रखो और तुम जीवन भर पाप नहीं करोगे।"

14 November 2020, 15:15