खोज

Vatican News
संत जॉन लातेरन महागिरजाघर संत जॉन लातेरन महागिरजाघर   (Vatican Media)

संत पापा का 8 एवं 9 नवम्बर का ट्वीट संदेश

संत पापा फ्राँसिस ने संत जोन लातेरन महागिरजाघऱ के समर्पण का पर्व के अवसर पर ट्वीट किया, साथ ही रविवार को ट्वीट कर ने इथियोपिया में चल रहे संघर्ष के शांतिपूर्ण अंत के लिए और मध्य अमेरिका में उष्णकटिबंधीय तूफान एटा से प्रभावित सभी लोगों के लिए प्रार्थना करने हेतु प्रेरित किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 9 नवम्बर 2020 (रेई) : आज काथलिक कलीसिया रोम के संत जोन लातेरन महागिरजाघऱ के समर्पण का पर्व मनाती है। यह रोम के धर्माध्यक्ष याने संत पापा का महागिरजाघर है। इस दिन संत पापा ने ट्वीट कर अपने दिल को प्रभु को निवास स्थान बनाने हेतु सभी विश्वासियों को प्रेरित किया।

संदेश में उन्होंने लिखा, ʺआज, संत जॉन लातेरन महागिरजाघर के समर्पण के पर्व पर, हम याद करते हैं कि प्रभु हर जन के दिल में वास करना चाहते हैं। यहां तक कि अगर हम उनसे खुद को दूर भी कर दें, तो भी प्रभु को हमारे भीतर अपने मंदिर को फिर से बनाने के लिए केवल तीन दिनों की आवश्यकता है।ʺ(योहन 2:19)

संत पापा फ्राँसिस ने रविवार 8 नवम्बर को 3 ट्वीट कर विभिन्न परिस्थितियों का सामना कर रहे लोगों के लिए प्रार्थना का आश्वासन दिया।

1ला ट्वीट

रविवारीय पाठों पर चिंतन करते हुए संत पापा ने पहले ट्वीट में लिखा,ʺप्यार के माध्यम से काम करने का विश्वास" (गला 5:6) वह चमकता हुआ दीपक है जिसके साथ हम मृत्यु से परे रात गुज़ार सकते हैं और जीवन के महान उत्सव तक पहुँच सकते हैं।ʺ (मत्ती 25: 1-13)

2रा ट्वीट

दूसरे संदेश में संत पापा ने इथियोपिया में चल रहे संघर्ष के शांतिपूर्ण अंत करने हेतु बातचीत का कदम अपनाने हेतु प्रेरित किया संदेश में उनहोंने लिखा,ʺ मैं इथियोपिया से आने वाली चिंताजनक खबरों से अवगत हूँ। मैं आग्रह करता हूँ कि एक सशस्त्र संघर्ष के प्रलोभन को खारिज कर दिया जाए, मैं हर किसी को प्रार्थना, भाईचारे का सम्मान और बातचीत के माध्यम से इस असहमति का शांतिपूर्ण अंत करने हेतु आमंत्रित करता हूँ।ʺ

3रा ट्वीट

संत पापा फ्राँसिस ने मध्य अमेरिका में उष्णकटिबंधीय तूफान एटा से प्रभावित सभी लोगों के लिए प्रार्थना करने हेतु प्रेरित किया। संदेश में उन्होंने लिखा, ʺआइए, हम मध्य अमेरिका की आबादी के लिए प्रार्थना करें जो एक हिंसक तूफान की चपेट में आए थे। प्रभु सभी मृतकों का स्वागत करें, उनके परिवारों को सांत्वना दें और उन लोगों का समर्थन करें जो सबसे अधिक प्रभावित हैं, साथ ही उन सभी लोगों को सुरक्षा प्रदान करे जो तूफान प्रभावित लोगों की मदद करने में लगे हुए हैं।"

09 November 2020, 15:22