खोज

Vatican News
आइवरी कोस्ट में चुनाव के बाद संघर्ष आइवरी कोस्ट में चुनाव के बाद संघर्ष   (AFP or licensors)

आइवरी कोस्ट में सामंजस्य व सहयोग हेतु संत पापा की अपील

संत पापा फ्राँसिस ने पश्चिम अफ्रीकी राष्ट्र में आपसी विश्वास और बातचीत का माहौल स्थापित करने के लिए आइवरी कोस्ट में अधिकारियों से अपील की, जहां विवादास्पद चुनावों में हिंसा हुई और देश से बड़े पैमाने पर पलायन हुआ।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 16 नवम्बर 2020 (वाटिकन न्यूज) : रविवार को संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में देवदूत प्रार्थना का पाठ करने के बाद संत पापा फ्राँसिस ने कहा, "मैं आइवरी कोस्ट के बारे में सोच रहा हूँ वे आज सामाजिक और राजनीतिक तनाव के संदर्भ में राष्ट्रीय शांति दिवस मना रहे हैं।"

संत पापा ने वहाँ उपस्थित सभी विश्वासियों से आइवरी कोस्ट के राष्ट्रीय सद्भाव के लिए प्रभु से प्रार्थना करने को कहा, साथ ही उन्होंने "उस प्यारे देश के सभी बेटों और बेटियों से सामंजस्य और एक शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व के लिए जिम्मेदारी के साथ सहयोग करने के लिए अपील की।"

संत पापा ने कहा,"विशेष रूप से, मैं विभिन्न राजनीतिक अभिनेताओं को प्रोत्साहित करता हूँ कि वे समाधान की तलाश में आपसी विश्वास और बातचीत के माहौल को फिर से स्थापित करें, जो जन कल्याण की रक्षा और बढ़ावा देते हैं।"

विवादास्पद चुनाव और उसके बाद

आइवरी कोस्ट की संवैधानिक परिषद ने घोषणा की कि राष्ट्रपति अलसेन क्वात्रा ने 9 नवंबर को कार्यालय में तीसरी बार चुनाव जीता। तब से देश भर में हिंसा जारी रही है। चुनाव संबंधी हिंसा में कम से कम 16 लोगों की मौत हो गई है।

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी, यूएनएचसीआर  ने 8,000 लोगों को देश से भाग जाने के रूप में पंजीकृत किया - उनमें से आधे, पड़ोसी लाइबेरिया में और बाकी घाना, गिनी और टोगो में शरण लिये हुए है।

पर्यवेक्षकों ने कहा कि बड़े पैमाने पर पलायन एहतियाती उपाय के लिए हो सकते हैं, एबिडजान निवासियों ने चुनाव के दिन से पहले शहर को छोड़ दिया, लेकिन उन्होंने कहा कि देश में सामान्य स्थित होने से वे जल्द से जल्द वापस आ जाएंगे।

16 November 2020, 14:14