खोज

Vatican News
सूडान भागने को मजबूर इथियोपिया के शरणार्थी सूडान भागने को मजबूर इथियोपिया के शरणार्थी  (AFP or licensors)

संत पापा द्वारा टाइग्रे में हिंसा को समाप्त करने की अपील

संत पापा फ्राँसिस ने इथियोपिया के टाइग्रे क्षेत्र में हिंसा को खत्म करने और शांति की बहाली की अपील की, क्योंकि प्रधानमंत्री ने क्षेत्रीय राजधानी पर हमले की घोषणा की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार 28 नवम्बर 2020 (वाटिकन न्यूज) : वाटिकन प्रेस कार्यालय द्वारा शुक्रवार शाम जारी एक बयान में, संत पापा फ्राँसिस ने इथियोपिया के टाइग्रे क्षेत्र, साथ ही आसपास के क्षेत्रों में हिंसात्मक स्थिति के लिए अपनी चिंता व्यक्त की।

 वाटिकन प्रेस कार्यालय निदेशक मत्तेओ ब्रूनी, ने कहा कि संत पापा संघर्ष की खबरों से अवगत हो रहे हैं।

बयान में कहा गया है, "हिंसा की वजह से सैकड़ों नागरिकों की मौत हो गई है और दसियों हज़ार लोग अपने घरों से सूडान भागने को मजबूर हैं।" "8 नवंबर को देवदूत प्रार्थना के दौरान, संत पापा फ्राँसिस ने इथियोपिया में चल रहे संघर्ष का जिक्र करते हुए कहा: ʺमैं आग्रह करता हूँ कि सशस्त्र संघर्ष के प्रलोभन को अस्वीकार कर दिया जाए। मैं सभी को भाईचारे के सम्मान और बातचीत द्वारा असहमतियों के शांतिपूर्ण समाधान हेतु प्रार्थना करने के लिए आमंत्रित करता हूँ।ʺ

बयान में, संत पापा ने बिगड़ती मानवीय स्थिति पर भी अफसोस जताया। संत पापा ने  इस देश के लिए प्रार्थना करने, संघर्षरत पार्टियों से हिंसा को रोकने के लिए, विशेष रूप से नागरिकों के जीवन रक्षा करने और लोगों की शांति बहाल करने की अपील की है।"

एयू के नेतृत्व वाली वार्ता

इस बीच, प्रधानमंत्री अबी अहमद के साथ अफ्रीकी संघ (एयू) की ओर से काम करने वाले तीन अफ्रीकी पूर्व नेता मिले हैं। मोजाम्बिक के जोकिम चिसानो, लाइबेरिया के एलेन जॉनसन सिर्लेफ और दक्षिण अफ्रीका के कालिमा मोटालन्ते सभी शुक्रवार को वार्ता के लिए इथियोपिया पहुंचे।

एयू ने 10 नवंबर को संघर्ष को तत्काल रोकने का आह्वान किया, लेकिन संघर्ष नियंत्रण से बाहर हो गया।

अंतिम आक्रमण

अब, अबी की सेना वर्तमान में टाइग्रे क्षेत्र में क्षेत्रीय बलों के खिलाफ अंतिम आक्रमण के लिए तैयार है। तीन हफ्ते पहले, उन्होंने संघीय सैनिकों पर हमला करने का आरोप लगाने के बाद टाइग्रे में स्थानीय सैनिकों के खिलाफ आपत्तिजनक राष्ट्रीय सेना को तैनात किया।

उन्होंने कहा कि सेना क्षेत्र में लड़ाई का अंत करेगी और उनके नेतृत्व को हटाएगी, जिसे उनकी सरकार अवैध मानती है।

डटे रहना

जैसा कि पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट (टीपीएलएफ), जो उत्तरी टाइग्रे क्षेत्र का नियंत्रण रखता है, अभी भी आत्मसमर्पण करने से इनकार करता है।

वर्तमान में अबी की सेना 500,000 लोगों के शहर मेकेले के पास है। टीपीएलएफ ने कहा कि उसकी सेना मजबूत है और सैनिक खाइयों को खोदकर किलेबंदी करेंगे।

मानवीय आपातकाल

पिछले कुछ हफ्तों में, हजारों लोग मारे गए हैं और 30,000 से अधिक शरणार्थी सूडान भाग गए हैं। रिपोर्टों से पता चलता है कि यह संघर्ष पहले से ही इरिट्रिया में फैल रहा है और अफ्रीका के व्यापक हॉर्न को अस्थिर कर रहा है।

शुक्रवार को, यूएनएचसीआर ने कहा कि टाइग्रे में लगभग 100,000 इरीट्रिया शरणार्थियों के पास अगर अगले सप्ताह तक खाद्यान आपूर्ति न पहुँची तो उन्हें भूखे रहना पड़ेगा।

संयुक्त राष्ट्र अगले छह महीनों में 200,000 लोगों की मदद करने की योजना के साथ, भोजन, आश्रय और शरणार्थियों की अन्य तत्काल जरूरतों को कवर करने के लिए  200 मिलियन अमेरिकी डॉलर जुटाने की उम्मीद कर रहा है।

28 November 2020, 14:08