खोज

Vatican News
आमदर्शन समारोह में विश्वासियों के साथ मुलाकात करते संत पापा आमदर्शन समारोह में विश्वासियों के साथ मुलाकात करते संत पापा  (Vatican Media)

"ग्रीन एंड ब्लू" वाटिकन की नई प्रकाशन पहल को, संत पापा का संदेश

संत पापा फ्राँसिस ने जेदी दल की नई संपादकीय पहल "ग्रीन एड ब्लू" को पत्र लिखा। नये समाचार पत्र में सूचना, सर्वेक्षण, साक्षात्कार, विश्वेषण और पर्यावरणीय सुरक्षा एवं इसके आर्थिक एवं औद्योगिक प्रयोग के क्षेत्र में विचार पेश किये जायेंगे।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 3 अक्तूबर 2020 (रेई)- "आज एक सच्चे 'मीडिया पारिस्थितिकी' की बहुत अधिक और तत्काल जरूरत है। आज जैव विविधता का विनाश, जलवायु संकट के कारण भय और महामारी का प्रभाव बढ़ गया है जो सबसे अधिक गरीब और कमजोर लोगों को प्रभावित कर रहा है जो एक खतरे का चिन्ह है जिनकी व्याख्या एवं विश्लेषण किया जाना चाहिए। हम अब दूसरी तरफ नहीं देख सकते", उक्त बातें संत पापा फ्राँसिस ने जेदी दल की नई संपादकीय पहल "ग्रीन एड ब्लू" को लिखा।  

नये समाचार पत्र में सूचना, सर्वेक्षण, साक्षात्कार, विश्वेषण और पर्यावरणीय सुरक्षा एवं इसके आर्थिक एवं औद्योगिक प्रयोग के क्षेत्र में विचार पेश किये जायेंगे।

गुणवत्तापूर्ण पत्रकारिता

संत पापा ने लिखा, "मैं सूचना के पेशेवरों को प्रोत्साहन देता हूँ कि आप मानव के भाग्य एवं प्रकृतिक वातावरण के बीच संबंध पर प्रकाश डालें एवं उसकी व्याख्या करें। वास्तव में पत्रकार, नागरिकों, देश के नेताओं, सामाजिक कार्यकर्ताओं, उद्यमियों और अर्थव्यवस्था एवं वित्त के नायकों को, अस्तित्व के लिए तत्काल और निर्णायक पारिस्थितिक रूपांतरण की दृष्टि से सशक्त होने में सहयोग दे सकते हैं।"

अतः संत पापा ने कहा कि गुणवत्तापूर्ण पत्रकारिता हमेशा लोगों की प्रतिष्ठा का सम्मान करता है। यह उन लोगों से शुरू करता है जो सबसे अधिक पीड़ित हैं तथा अर्थव्यवस्था एवं विकास को नये तरीके से समझने का प्रोत्साहन देता है। हर प्रकार के हाशिये पर रखे जाने से संघर्ष करता तथा प्राकृतिक आवास के साथ परोपकार एवं सामंजस्य पर आधारित सहअस्तित्व के मानवीय, आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक विकास के एक नवीकृत आदर्श का प्रस्ताव रखता है।

अच्छे भविष्य के निर्माण का आधार

संत पापा ने कहा है कि निष्पक्ष और सतत् जीवनशैली, पर्यावरण संरक्षण, सभी के लिए पर्याप्त भोजन और पानी, संपूर्ण मानवता के लिए एक स्वस्थ, समृद्ध और अच्छे भविष्य के निर्माण का आधार" है।      

कोविड-19 महामारी की पृष्टभूमि पर ध्यान देते हुए संत पापा ने जोर दिया है कि "वायरस किसी घेरा, सीमा या संस्कृति और राजनीतिक विविधताओं के सामने नहीं रूकता। यह हमारी निश्चितताओं एवं आकांक्षाओं को तोड़ रहा है, पहले से मौजूद गंभीर समस्याओं का हल कर रहा है, फिर भी हमें नहीं त्यागना चाहिए क्योंकि वर्तमान संकट द्वारा एकात्मता के रास्ते पर सार्वजनिक कल्याण की खोज करते हुए, बेहतर बनने के लिए हमारे पास महान अवसर है। दूसरी ओर, यदि हम समाधान की खोज स्वार्थ एवं सत्ता के लालच से करते रहेंगे, तब सब कुछ पहले से बुरा हो जाएगा क्योंकि केवल एक साथ हम ग्रह के नाटक से सचमुच उठ सकते हैं।"

03 October 2020, 14:37