खोज

Vatican News
गालवे आयरलैंड की एक महिला  प्रार्थना करते हुए गालवे आयरलैंड की एक महिला प्रार्थना करते हुए 

मैं आपको हाथ में रोजरी लेने के लिए आमंत्रित करता हूँ, संत पापा

18 और 19 अक्टूबर को संत पापा फ्राँसिस ने ट्वीट कर सभी विश्वासियों को विशेषकर युवाओं को"रोजरी प्रार्थना करते एक लाख बच्चे" पहल में भाग लेकर रोजरी प्रार्थना करने के लिए प्रेरित किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 19 अक्टूबर 2020 (वाटिकन न्यूज) : एड टू द चर्च इन नीड (एसीएन) की "रोजरी प्रार्थना करते एक लाख बच्चे" पहल, युवाओं को रविवार, 18 अक्टूबर या सोमवार 19 अक्टूबर रोजरी की प्रार्थना करने के लिए आमंत्रित कर रही है, इस दिन उनके लिए स्कूल में एक साथ रोजरी प्रार्थना करना आसान है। आज संत पापा फ्राँसिस ने ट्वीट कर सभी लोगों से शांति और एकता के लिए प्रार्थना करने हेतु आमंत्रित किया।

संत पापा ने संदेश में लिखा,ʺ मैं आपको फिर से हाथों में रोजरी माला  लेने और अपनी निगाहें सांत्वना और निश्चित आशा का संकेत, हमारी माता मरियम की ओर उठाने के लिए आमंत्रित करता हूँ । आज दुनिया भर में एक मिलियन बच्चे एकता और शांति के लिए माता मरियम से प्रार्थना कर रहे हैं।ʺ # प्रार्थना करते बच्चे

विदित हो कि 2005 में वेनेजुएला की राजधानी काराकस में "रोजरी प्रार्थना करते एक लाख बच्चे" शुरू हुई, जब बच्चों का एक समूह शांति के लिए रोजरी प्रार्थना करने हेतु एक साथ आये थे। तीन साल बाद एसीएन प्रार्थना कार्यक्रम में शामिल हुआ और 2018 में इस संगठन को संभाला। इस साल, 80 देशों और सभी महाद्वीपों के बच्चे हिस्सा ले रहे हैं।

रविवार 18 अक्टूबर को संत पापा ने विभिन्न मुद्दो पर तीन ट्वीट प्रेषित किया।

1ला ट्वीट

संत पापा ने शांति और एकता के लिए रोजरी की प्रार्थना करने के लिए आमंत्रित करते हुए लिखा, ʺआज और कल, दुनिया भर में दस लाख बच्चे रोज़री की प्रार्थना कर रहे हैं। हम प्रतिदिन पुरे विश्वास के साथ रोजरी प्रार्थना का पाठ करें। यह एक ऐसा हथियार है जो हमें बुराई और प्रलोभन से बचाता है।ʺ # प्रार्थना करते बच्चे

2रा ट्वीट

काथलिक कलीसिया ने रविवार 18 अक्टूबर को विश्व मिशन दिवस मनाया। इस दिन संत पापा ने ट्वीट कर सभी को सुसमाचार प्रचार के मिशन को आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित किया।

संदेश में उन्होंने लिखा,  ʺमिशन,  ‘बाहर निकलती कलीसिया’, मात्र  इच्छा शक्ति के द्वारा किया जाने वाला कार्यक्रम नहीं है। ये मसीह हैं जो कलीसिया को खुद से बाहर जाने देते है। सुसमाचार प्रचार के मिशन में, आप आगे बढ़ते हैं क्योंकि पवित्र आत्मा आपको प्रेरित करता है और आपको आगे ले जाता है।ʺ # विश्व मिशन दिवस

3रा ट्वीट

तीसरे ट्वीट में संत पापा ने लिखा, ʺमसीह में विश्वास और उनके जीवन पथ पर चलने वाले विश्वासी अपने को दुनिया के लोगों से अलग-थलग नहीं करते, बल्कि उन्हें भलाई के लिए प्रेम की सेवा के नायक बनाते हैं।ʺ

19 October 2020, 13:45