खोज

Vatican News

"काउंटडाउन" जलवायु परिवर्तन की ओर यात्रा पर संत पापा का आमंत्रण

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 12 अक्टूबर 2020 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने शनिवार को "काउंटडाउन" के वैश्विक लॉन्च के दौरान प्रसारित वीडियो संदेश में कहा, "हम कठिन चुनौतियों से चिह्नित एक ऐतिहासिक क्षण में जी रहे हैं।" इस कार्यक्रम का आयोजन वैश्विक स्तर पर टीईडी द्वारा जलवायु संकट के त्वरित समाधान के लिए किया गया था।

संत पापा ने कहा, कोविद -19, हमें यह चुनने के लिए मजबूर कर रहा है कि हमारे लिए क्या महत्वपूर्ण है और क्या मायने नहीं रखता है।

3-चरण यात्रा

संत पापा फ्राँसिस ने जोर देते हुए कहा कि वैज्ञानिक प्रमाणों के अनुसार हमारे पास ज्यादा समय नहीं है। फिर उन्होंने एक साथ "यात्रा" करने के लिए आमंत्रित किया। वह यात्रा "परिवर्तन" और "कार्रवाई" करने का है। इसका उद्देश्य अगले दशक के भीतर "भविष्य की पीढ़ियों के साथ समझौता किए बिना वर्तमान पीढ़ियों को जवाब देने में सक्षम दुनिया का निर्माण करना है जो सभी को शामिल करने में सक्षम हो।"

यह यात्रा "अभिन्न पारिस्थितिकी" से मेल खाती है जिसे संत पापा ने अपने विश्वपत्र ‘लौदातो सी’ में प्रस्तुत की थी।  हमारे आम घर की देखभाल में शिक्षा का पहला चरण है।

संत पापा ने कहा, दूसरा चरण पानी और पोषण पर ध्यान केंद्रित करना है। "पीने योग्य और सुरक्षित पानी तक पहुँच,"एक आवश्यक, सार्वभौमिक मानव अधिकार है।" पर्याप्त पोषण के लिए "गैर-विनाशकारी कृषि विधियों" की आवश्यकता होती है और इन विधियों को "खाद्य उत्पादन और वितरण के पूरे चक्र का मूलभूत लक्ष्य" बनाने की आवश्यकता है।

यात्रा पर तीसरा चरण जीवाश्म ईंधन से स्वच्छ ऊर्जा के लिए संक्रमण है। इस संक्रमण को न केवल तेजी से और भविष्य की ऊर्जा आवश्यकताओं की आपूर्ति करने में सक्षम होने की आवश्यकता है, बल्कि यह भी कि यह कैसे "गरीब, स्थानीय लोगों और ऊर्जा क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को प्रभावित करता है।" इस तीसरे चरण में शामिल है "उन कंपनियों में निवेश नहीं करने के लिए ठोस कार्रवाई, जो अभिन्न पारिस्थितिकी के मापदंडों को पूरा नहीं करती हैं और उन लोगों को पुरस्कृत करती हैं, जो संक्रमण के दौर में शामिल होते हैं।"

अर्थव्यवस्था का नवीनीकरण

अर्थव्यवस्था के विषय में आगे बढ़ते हुए, संत पापा फ्राँसिस ने वर्तमान प्रणाली को "अरक्षणीय" कहा।

उन्होंने कहा, "उत्पादन, खपत, हमारी अपशिष्ट संस्कृति, अल्पकालिक दृष्टि, गरीबों का शोषण और उदासीनता, असमानता में वृद्धि और हानिकारक ऊर्जा स्रोत पर निर्भरता जैसी कई चीजों के बारे में अलग तरह से सोचना, यह एक जरूरी नैतिक अनिवार्यता है।”

नई संबंधपरक अवधारणाएँ

संत पापा ने कहा, "अभिन्न पारिस्थितिकी"  "हमारे और प्रकृति के बीच संबंध की एक नई अवधारणा का सुझाव देता है।" यह नई अवधारणा "नई अर्थव्यवस्था" की ओर ले जाएगी, जो उत्पादन को "व्यक्ति के अभिन्न कल्याण" की ओर निर्देशित करती है और "हमारे सामान्य घर का विनाश नहीं होगा।" राजनीति इस नवीनीकृत मानसिकता में शामिल है, अगर इसे "उदारता के उच्चतम रूपों" में से एक माना जाता है।

“हाँ, प्यार पारस्परिक है, लेकिन प्यार भी राजनीतिक है। इसमें सभी लोग शामिल हैं और इसमें प्रकृति भी शामिल है। ”

अंत में, संत पापा फ्राँसिस ने "इस यात्रा को शुरू करने" के लिए अपने निमंत्रण को नवीनीकृत करते हुए वीडियो संदेश को समाप्त किया।

 "जैसा कि 'काउंटडाउन' शब्द बताता है,"यह यात्रा "तत्काल" है। “हम में से हर कोई एक मूल्यवान भूमिका निभा सकता है अगर हम सभी आज इस यात्रा में शामिल हों। कल नहीं, आज। क्योंकि भविष्य का निर्माण आज किया गया है और इसका निर्माण अकेले नहीं किया गया है, बल्कि समुदाय और सद्भाव में किया गया है।”

12 October 2020, 14:40