खोज

Vatican News
नव नियुक्त कार्डिनल महाधर्माध्यक्ष विल्टन ग्रेगरी नव नियुक्त कार्डिनल महाधर्माध्यक्ष विल्टन ग्रेगरी  

अपने चयन पर नए कार्डिनलों ने आश्चर्य और कृतज्ञता व्यक्त की

संत पापा फ्राँसिस ने अपने साथ कार्य करने के लिए 13 नये कार्डिनलों का चयन किया। नव चयनित कार्डिनलों ने अपने चयन पर आश्चर्य और आभार व्यक्त किया। वाटिकन न्यूज उनकी प्रतिक्रियाओं को प्रकाशित करना जारी रखेगा।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 26 अक्टूबर 2020 (वाटिकन न्यूज) :  रविवार 25 अक्टूबर को संत पापा फ्राँसिस ने संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में वहाँ उपस्थित विश्वासियों के साथ देवदूत प्रार्थना का पाठ किया। इसके उपरांत संत पापा ने कार्डिनल मंडल में तेरह नये कार्डिनलों को नामित किया। चार नये कार्डिनल की प्रतिक्रिया को वाटिकन न्यूज ने साक्षात्कार कर प्रकाशित किया।

महाधर्माध्यक्ष विल्टन ग्रेगरी

नव नियुक्त कार्डिनल महाधर्माध्यक्ष विल्टन ग्रेगरी ने वाटिकन न्यूज के साथ हुए साक्षात्कार में संत पापा के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा, "बहुत ही कृतज्ञ और विनम्र हृदय के साथ, मैं इस नियुक्ति के लिए संत पापा फ्राँसिस को धन्यवाद देता हूँ, यह मुझे मसीह की कलीसिया की देखभाल करने में उनके साथ अधिक निकटता से काम करने का अवसर देता है।"

 महाध्माध्यक्ष ग्रेगरी मूल रूप से शिकागो का रहने वाले हैं और मई 2019 में देश की राजधानी के महाधर्माध्यक्ष के रूप में नियुक्त होने से पहले अटलांटा के महाधर्माध्यक्ष थे। वे कार्डिनल मंडल में जाने वाले पहले अफ्रीकी-अमेरिकी हैं।

फादर माउरो गामबेत्ती, ओ.एफ.एम.

असीसी के साकरो कोन्वेंट के प्रवक्ता फादर एन्ज़ो फ़ोर्तुनातो ने मठ के संरक्षक फादर माउरो गामबेत्तीके प्रतिक्रिया जारी की। यह "संत पापा के चुटकुलों" में से एक है, कार्डिनल चुने जाने की बात सुनने के बाद अनायास ही उनके मुख से ये बातें निकली। उन्होंने कहा, “मैं कृतज्ञता और खुशी से इस खबर का स्वागत और कलीसिया  के प्रति आज्ञाकारिता की भावना और इस समय में सभी मानवता की सेवा में करता हूँ, जो हम सभी के लिए इतना मुश्किल है। मैं संत फ्राँसिस को अपना मार्ग सौंपता हूँ और भाईचारे के बारे में उनके वचनों को अपना खुद का वचन बनाता हूँ। यह एक उपहार है जिसे मैं ईश्वर के सभी बच्चों के साथ, पड़ोसी व  हमारे भाई या बहन के प्रति प्रेम और करुणा के मार्ग पर साझा करूंगा।”

महाधर्माध्यक्ष सिल्वानो तोमासी

महाधर्माध्यक्ष तोमासी ने कहा: "मैं पूरी तरह से आश्चर्यचकित हूँ और मेरे चयन के लिए संत पापा का आभारी हूँ।" उन्होंने कहना जारी रखा कि यह न केवल मेरे लिए बल्कि मेरे समुदाय, स्कालाब्रिनीयन फादरों के लिए भी एक सम्मान की बात है और परमधर्मपीठ की ओर से उनके द्वारा दी गई कूटनीतिक सेवा की मान्यता है।

"यह उन तत्वों का एक संयोजन है जो इस मान्यता में परिवर्तित होते हैं। मैं संत पापा फ्रांसिस के प्रति आभार प्रकट करता हूँ और मुझे लगता है कि यह मान्यता कलीसिया और परमधर्मपीठ की सेवा के लिए एक और प्रतिबद्धता की मांग करती है।”

मोनसिन्योर एनरिको फेरोची

 मोनसिन्योर एनरिको का कहना था कि वे 12:30 का पवित्र मिस्सा समारोह के लिए तैयारी कर रहे थे कि कुछ पल्लीवासियों ने उन्हें बधाई देना शुरु किया। उन्हें समझ में नहीं आ रहा था। संत पापा फ्राँसिस द्वारा कार्डिनल चुने जाने पर उन्होंने नियुक्ति की व्याख्या केवल अपने लिए व्यक्तिगत रूप से नहीं बल्कि "रोम के सभी पुरोहितों" से करते हैं। उन्होंने कहा कि पुरोहित वह है जो मसीह के शरीर याने ईश्वर के लोगों को छूने के लिए धर्माध्यक्ष को अपने हाथ देता है। इसलिए,संत  पापा फ्राँसिस इतने सारे पुरोहितों के हाथों को धन्यवाद देना चाहते थे। मोन्सिन्योर फेरोची ने यह भी कहा कि वह अभी तक संत पापा फ्राँसिस को धन्यवाद नहीं दे पाये हैं लेकिन वे जल्द ही उनसे बात करने की उम्मीद करते हैं।

26 October 2020, 16:03