खोज

Vatican News
22.11.2019 थाईलैंड में संत पापा फ्राँसिस अन्य धर्मों के नेताओं के साथ 22.11.2019 थाईलैंड में संत पापा फ्राँसिस अन्य धर्मों के नेताओं के साथ  (AFP or licensors)

अंतर्राष्ट्रीय शांति प्रार्थना सभा में संत पापा की सहभागिता

संत पापा फ्राँसिस और विश्व के अन्य धर्मों के नेता 20 अक्टूबर को शांति के लिए प्रार्थना करने हेतु शामिल होंगे। यह पहल "फ्रातेल्ली तुत्ती" और असीसी की भावना में है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 19 अक्टूबर 2020 (वाटिकन न्यूज) : वाटिकन प्रेस कार्यालय के निदेशक मत्तेयो ब्रूनी ने अपने बयान में कहा कि मंगलवार, 20 अक्टूबर को, संत पापा फ्राँसिस "कोई भी अकेला खुद को बचा नहीं सकता - शांति और बंधुत्व" नामक एक अंतर्राष्ट्रीय शांति प्रार्थना में भाग लेंगे।

रोम में स्थित संत एजीदियो समुदाय द्वारा प्रचारित, प्रार्थना सभा एक पारिस्थितिक घटना है और रोम के कैपिटोलिन पहाड़ी पर स्थित संत मरिया अराचेली महागिरजाघर में कई ईसाई संप्रदायों के प्रतिनिधि इस प्रार्थना सभी में भाग लेंगे।

वाटिकन प्रेस कार्यालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, दुनिया के महान धर्मों के नेताओं और अन्य विश्व नेताओं के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में कैपिटोलिन पहाड़ी पर माइकेल अंजेलो प्रांगण में एक अंतरराष्ट्रीय समारोह के बाद  प्रार्थना सभा होगी।

असीसी की भावना में

सेंट एजीदियो समुदाय, जो 1986 में संत जॉन पॉल द्वितीय द्वारा वांछित ऐतिहासिक अंतरधार्मिक मुलाकात से प्रेरित अपनी 34 वीं बैठक की मेजबानी करने की तैयारी कर रहा है, ने कहा कि असीसी और संत पापा फ्रांसिस के विश्वपत्र ʺफ्रातेल्ली तुत्तीʺ की भावना में इस अंतर्राष्ट्रीय बैठक को बढ़ावा दिया है।

यह बैठक कोविद विरोधी मानदंडों के संबंध में होगी और समुदाय की विभिन्न वेब और सोशल मीडिया चैनलों के माध्यम से 8 भाषाओं में सीधा प्रसारण किया जाएगा।

संत पापा फ्राँसिस के तीसरे विश्व पत्र, फ्रातेल्ली तुत्ती से उद्धृत,  संत एजीदियो समुदाय का कहना है, "विभिन्न धर्म, प्रत्येक मानव के लिए उनके सम्मान के आधार पर, एक प्राणी के रूप में हर व्यक्ति ईश्वर की संतान है और समाज में भ्रातृ-निर्माण और न्याय का बचाव करने में महत्वपूर्ण योगदान देता है।"

"इतिहास के एक कठिन क्षण में", "महामारी के कारण और नए व पुराने युद्धों के कारण - जैसे सीरिया में दस साल तक चल रहा युद्ध या वर्तमान एक नागोर्नो-काराबाख में चल रहे युद्ध को रोकने के लिए प्रार्थना और मुलाकात की एक महत्वपूर्ण क्षण की पेशकश की जाएगी: सबकी भलाई हेतु भविष्य के लिए आशा का एक संदेश, जो कि शांति का  संदेश है।"

सभी को ऑनलाइन कार्यक्रम में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया जाता है।

युद्ध और महामारी के शिकार लोगों के लिए प्रार्थना

मंगलवार दोपहर को धार्मिक नेता शहर भर के अलग-अलग स्थानों में प्रार्थना करेंगे: संत पापा फ्राँसिस, कोंस्टांटिनोपल के प्राधिधर्माध्यक्ष बार्थोलोम प्रथम  और अन्य ऑर्थोडोक्स और प्रोटेस्टेंट प्रतिनिधि आराचेली की माता मरियम महागिरजाघर में रहेंगे। रोम के सिनेगॉग में यहूदी धर्मगुरु,  कैपिटलिन संग्रहालय में मुस्लिम, बौद्ध और अन्य पूर्वी धर्मों के प्रतिनिधि उपस्थित रहेंगे।

कैपिटोलिन प्रांगण के अंतरराष्ट्रीय समारोह में यूरोपीय आयोग के अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेयेन, इटली के राष्ट्रपति सरजो मतरेल्ला और कई अंतरराष्ट्रीय नेता शामिल होंगे। महामारी और सभी युद्धों के पीड़ितों की याद में एक मिनट के मौन के साथ आयोजन संपन्न होगा।

19 October 2020, 13:34