खोज

Vatican News
कार्लो पेट्रिनी की एक नई पुस्तक ‘तेर्राफुतुरा कार्लो पेट्रिनी की एक नई पुस्तक ‘तेर्राफुतुरा 

संत पापा के पारिस्थितिकी दृष्टिकोण पर आधारित,"तेर्राफुतुरा"

संत पापा फ्रांसिस और "स्लो फूड" के संस्थापक व पर्यावरण कार्यकर्ता, श्री कार्लो पेट्रिनी के बीच हुई तीन वार्तालापों की एक नई पुस्तक ‘तेर्राफुतुरा’(भावी पृथ्वी) को प्रकाशित किया गया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार 09 सितम्बर 2020 (वाटिकन न्यूज) : इतालवी पुस्तक के ‘तेर्राफुतुरा’ अभिन्न पारिस्थितिकी पर संत पापा फ्राँसिस और लेखक के साथ हुई वार्तालापों का संग्रह है।

लेखक, कार्लो पेट्रिनी, वैश्विक "स्लो फूड" आंदोलन के संस्थापक हैं। उन्होंने 1980 के दशक में "फास्ट फूड" उपभोक्तावादी सांस्कृतिक और आर्थिक प्रवृत्ति के सामने क्षेत्रीय परंपराओं की रक्षा के लिए स्थापित किया। यह भोजन और जीवन शैली के लिए एक व्यापक दृष्टिकोण को अपनाने के लिए विकसित हुआ है जो व्यवहार, खाद्य उत्पादन और खपत, अर्थशास्त्र और ग्रह के बीच मजबूत संबंध को पहचानता है।

पेट्रिनी की यह नवीनतम पुस्तक संत पापा फ्राँसिस के निमंत्रण को बढ़ावा देने और एक विनाशकारी स्वरुप से निपटने और बदलने हेतु प्रोत्साहित करने की उनकी इच्छा से उपजी है। संत पापा फ्राँसिस अपने विश्व पत्र में लौदातो सी में लिखते हैं कि हमारी दुनिया में व्यापक रुप से सामाजिक और पर्यावरणीय अन्याय हुआ है और "हमारे सामान्य गृह की देखभाल" की आवश्यकता है।"

"अभिन्न पारिस्थितिकी" की अवधारणा पर आधारित यह पुस्तक पेट्रिनी और संत पापा के बीच तीन "सरल और मैत्रीपूर्ण" व्यक्तिगत वार्तालापों पर आधारित है, उन्होंने पृथ्वी के प्रति सम्मान, उसकी "उपज और संरक्षण" के लिए अपनी साझा प्रतिबद्धता पर चर्चा की है। आपसी एकजुटता के माहौल में धरती की उपज सभी लोगों के जीवन और आजीविका के लिए मिले।

तीन महत्वपूर्ण क्षण

संत पापा के साथ तीन वार्तालाप आधुनिक इतिहास के मार्मिक और महत्वपूर्ण क्षणों में हुए: पहला- 2018 में मध्य इटली में विनाशकारी भूकंप के मद्देनजर; दूसरा- 2019 में अमेज़ॅन पर धर्माध्यक्षों के धर्मसभा के उद्घाटन से पहले और तीसरा- कोविद -19 महामारी के बीच 2020 में।

किताब को पांच अलग-अलग विषयों के अनुसार आयोजित किया गया है: जैव विविधता, अर्थव्यवस्था, प्रवासन, शिक्षा और समुदाय, सभी को एक ठोस और आध्यात्मिक दृष्टिकोण के माध्यम से देखा गया है। यह संत पापा फ्राँसिस के शिक्षण के अनुरूप पृथ्वी और उसके लोगों के साथ "पुन:संयोजित" करने का एक तत्काल निमंत्रण है।

09 September 2020, 14:36