खोज

Vatican News
महामारी के दौरान इरान में शिक्षा महामारी के दौरान इरान में शिक्षा  (AFP or licensors)

युद्ध, हिंसा के बावजूद शिक्षा के अधिकार को बरकरार रखें, संत पापा

संयुक्त राष्ट्र संध ने 9 सितम्बर को पहली बार सशस्त्र संघर्ष क्षेत्रों में हमले से शिक्षा की रक्षा के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस मनाये जाने की घोषणा की। इस अवसर पर संत पापा ने युद्ध और आतंकवाद के कारण शिक्षा से वंचित सभी विद्यार्थियों के लिए प्रार्थना करने की अपील की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार 09 सितम्बर 2020 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने बुधवारीय आमदर्शन समारोह के दौरान वाटिकन के संत दामासो प्रांगण में उपस्थित विश्वासियों को हमले से शिक्षा की रक्षा के लिए पहली अंतर्राष्ट्रीय दिवस पर उन सभी विद्यारथियों के लिए प्रार्थना करने हेतु आमंत्रित किया जो युद्ध और असामाजिक तत्वों के कारण स्कूली शिक्षा पाने से वंचित हैं।

अपील

संत पापा ने कहा, ʺआज पहली बार सशस्त्र संघर्ष क्षेत्रों में हमले से शिक्षा की रक्षा के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस मनाया जा रहा है। मैं आपको उन छात्रों के लिए प्रार्थना करने हेतु आमंत्रित करता हूँ जो युद्ध और आतंकवाद के कारण शिक्षा के अधिकार से गंभीर रूप से वंचित हैं। मैं अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से आग्रह करता हूँ कि वह इसकी पूरी कोशिश करे ताकि युवा छात्रों की रक्षा करने वाली संरचनाओं का सम्मान किया जाए। मानवीय प्रयासों की स्थितियों में इन सबसे ऊपर, उनकी शिक्षा के लिए सुरक्षित वातावरण की गारंटी देने वाले प्रयास व्यर्थ नहीं जा सकते।ʺ

यूएन

मई 2020 में यूनेस्को और यूनिसेफ के आह्वान पर संयुक्त राष्ट्र महासभा के सर्वसम्मति निर्णय द्वारा संघर्ष प्रभावित देशों में रहने वाले लाखों बच्चों की जागरूकता बढ़ाने के लिए 9 सितंबर 2020 में अंतर्राष्ट्रीय दिवस की स्थापना की गई थी। दिवस की घोषणा करने वाला प्रस्ताव कतर राज्य द्वारा प्रस्तुत किया गया था और 62 देशों द्वारा प्रायोजित किया गया था।

यह दिवस 35 संकटग्रस्त देशों में रहने वाले 75 मिलियन 3 से 18 साल के बच्चों की दुर्दशा और उनकी शैक्षिक सहायता की तत्काल आवश्यकता पर ध्यान आकर्षित करता है।

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने एक संदेश में कहा, "जैसा कि दुनिया कोविद-19 महामारी से लड़ने के लिए संघर्षरत क्षेत्रों में बच्चों और युवाओं को अपने विनाशकारी प्रभाव के लिए सबसे अधिक संवेदनशील बनी हुई है।" "हमें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि हमारे बच्चों के पास एक सुरक्षित वातावरण हो, जिसमें वे भविष्य के लिए आवश्यक ज्ञान और कौशल सीख सकें।"

09 September 2020, 14:25