खोज

Vatican News
बच्चों से मुलाकात करते सन्त पापा फ्राँसिस बच्चों से मुलाकात करते सन्त पापा फ्राँसिस  (AFP or licensors)

“तेरसियो” का बेल्जियम प्रतिनिधिमण्डल मिला सन्त पापा फ्राँसिस से

वाटिकन में, शुक्रवार को, बेल्जियम की काथलिक साप्ताहिक पत्रिका "तेरसियो" की 20 वर्षगाँठ के उपलक्ष्य में, साप्ताहिक के सहयोगियों ने सन्त पापा फ्राँसिस का साक्षात्कार कर उनका सन्देश सुना।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 18 सितम्बर 2020 (रेई,वाटिकन रेडियो): वाटिकन में, शुक्रवार को, बेल्जियम की काथलिक साप्ताहिक पत्रिका "तेरसियो" की 20 वर्षगाँठ के उपलक्ष्य में, साप्ताहिक के सहयोगियों ने सन्त पापा फ्राँसिस का साक्षात्कार कर उनका सन्देश सुना।

"तेरसियो" साप्ताहिक में योगदान देनेवाले सहयोगियों एवं पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए सन्त पापा फ्राँसिस ने उन्हें रोम तीर्थयात्रा के लिये आशीर्वाद दिया तथा सम्प्रेषण माध्यम एवं सूचना प्रसारण के क्षेत्र में उनके अनुपम कार्यों के लिये हार्दिक बधाइयाँ अर्पित कीं।

ख्रीस्तीय सूचना प्रसारण

सन्त पापा ने कहा, "हम जिस समाज में जीवन यापन करते हैं, वहाँ सूचना और जानकारी हमारे दैनिक जीवन का एक अभिन्न अंग है। जब यह सूचना गुणकारी होती है, तो यह हमें समस्याओं और चुनौतियों को बेहतर ढंग से समझने में सक्षम बनाती है तथा चुनौती भरे विश्व का सामना करने के लिए व्यक्तिगत, पारिवारिक और सामाजिक व्यवहारों को प्रेरित करती है।" इस क्षेत्र में, सन्त पापा ने कहा, विशेष रूप से, ख्रीस्तीय सूचना प्रसारण की उपस्थिति नितान्त आवश्यक है, जो विश्व में कलीसिया के जीवन और कार्यों पर प्रकाश डालती तथा अन्तःकरणों को प्रशिक्षित करती है।

"तेरसियो"

सन्त पापा ने स्मरण दिलाया कि बेल्जियम की काथलिक साप्ताहिक पत्रिका "तेरसियो", तीसरी सहस्राब्दि के आरम्भ के बारे में प्रकाशित, सन्त पापा जॉन पौल द्वितीय के प्रेरितिक उदबोधन से प्रेरित, सन् 2000 में स्थापित की गई थी, ताकि उद्धारकर्त्ता ख्रीस्त का सन्देश लोगों के दिलों तक पहुँचाया जा सके। सन्त पापा ने कहा कि इसका उद्देश्य, तेज़ी से धर्म के प्रति उदासीन होते मीडियाई परिदृश्य में, कलीसिया एवं ख्रीस्तीय बुद्धिजीवियों की आवाज़ को गुँजायमान बनाना था।      

ख्रीस्तीय मीडिया विशेषज्ञ

सन्त पापा ने कहा कि ख्रीस्तीय समुदायों में जीवन की नई शैली को प्रेरित करने का श्रेय ख्रीस्तीय मीडिया को जाता है, जो सभी पूर्वधारणाओं से दूर सभी को अपने लेखों एवं रूपकों में शामिल करते हैं। सन्त पापा ने कहा, "कलीसिया के लिये संचार माध्यम एक महत्वपूर्ण मिशन है। इस क्षेत्र में शामिल ख्रीस्तीय पत्रकारों एवं लेखकों का आह्वान किया जाता है कि वे बहुत ही ठोस तरीके से प्रभु येसु मसीह के आमंत्रण को मूर्तरूप प्रदान करे, और वह यह कि "जाओ और विश्व को सुसमाचार सुनाओ।"  

उन्होंने कहा, "अपनी प्रवीणता एवं उच्च पेशेवर विवेक के कारण, ख्रीस्तीय पत्रकार को, सच्चाई को छिपाये बिना या जानकारी में हेरफेर किए बिना, सम्प्रेषण माध्यम जगत में एक नया साक्ष्य देने के लिये तत्पर रहना चाहिये। उसे भविष्य में आशा और विश्वास के वाहक होना चाहिये, क्योंकि जब भविष्य को एक रचनात्मक वास्तविकता के रूप में ग्रहण किया जायेगा तब ही वर्तमान भी जीने लायक बन सकेगा।"

18 September 2020, 11:20