खोज

Vatican News
भूमध्यसागर में सैन्य जहाज भूमध्यसागर में सैन्य जहाज 

संत पापा ने भूमध्यसागर में तनाव कम होने के लिए प्रार्थना की

संत पापा फ्राँसिस ने भूमध्य सागर क्षेत्र की शांति को खतरे में डालने वाले तनाव को दूर करने हेतु वार्ता के लिए प्रार्थना की।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 1 सितम्बर 2020 (वीएन)- रविवार को देवदूत प्रार्थना के उपरांत संत पापा फ्राँसिस ने पूर्वी भूमध्य सागर में अस्थिरता की स्थिति के लिए प्रार्थना की। उन्होंने कहा, "मैं पूर्वी भूमध्य सागर में तनाव की चिंता करता हूँ।" संत पापा ने इससे संबंधित देशों का जिक्र नहीं किया।

उन्होंने कहा, "मैं एक निर्माणात्मक बातचीत और अंतरराष्ट्रीय कानून के प्रति सम्मान की अपील करता हूँ ताकि तनाव का हल किया जा सके जो उस क्षेत्र के लोगों की शांति को खतरे में डालता है।"

तनाव

पूर्वी भूमध्य सागर में ग्रीस एवं तुर्की के बीच पिछले कुछ सप्ताहों से तनाव बढ़ गई है। यह एक दशक पहले खोजी गई विशाल गैस और तेल के भंडार के ऊपर है। दोनों देशों ने हाल ही में एक समुद्री समझौते पर हस्ताक्षर किया था : तुर्की एवं लीबया के बीच पिछले साल, और ग्रीस एवं मिस्र के बीच पिछला महीना हस्ताक्षर किया था ।  

ग्रीस और तुर्की अब अपने संबंधित क्षेत्रीय जल सीमाओं की व्याख्या के साथ दूरी बनाये हुए है और इसलिए, ऊर्जा संसाधनों का पता लगाने और उनका उपयोग करने का उनका अधिकार है।

अंकारा एवं एथेंस के साथ तनाव 10 अगस्त को तुर्की अनुसंधान पोत ओरुक रिस की तैनाती के साथ शुरू हुआ।

यूरोपीय संघ ने तुर्की को चेतावनी दी है कि वह कठिन आर्थिक उपाय समेत नये प्रतिबंधों का सामना तब तक करे जब तक कि तनाव कम न हो जाए।

बुधवार को तुर्की ने कहा था कि वह पूर्व शर्त के साथ ग्रीस से बात करने को तैयार है जबकि कल इसने एक और दो सप्ताह के लिए नए सैन्य प्रशिक्षण युद्धाभ्यास की घोषणा की। उधर यूरोपीय संघ के सदस्य देश अपनी ओर से बढ़ते विरोध को रोकने की कोशिश कर रहे हैं। 

01 September 2020, 15:18