खोज

Vatican News
मरिया मेजर महागिरजाघर में प्रार्थना करते संत पापा फ्राँसिस मरिया मेजर महागिरजाघर में प्रार्थना करते संत पापा फ्राँसिस 

प्रार्थना एवं भ्रम

संत पापा फ्राँसिस ने 8 अगस्त के ट्वीट संदेश में प्रार्थना एवं भ्रम के बीच अंतर स्पष्ट किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 8 अगस्त 2020 (रेई)- संत पापा फ्राँसिस ने प्रार्थना एवं भ्रम के बीच अंतर स्पष्ट किया।

उन्होंने 8 अगस्त के ट्वीट संदेश में लिखा, "हम सभी को पिता की जरूरत है जो अपना हाथ हमपर बढ़ाते हैं। उनसे प्रार्थना करना, उन्हें पुकारना, भ्रांति नहीं है। भ्रांति का अर्थ है यह सोचना कि हम उनके बिना कर सकते हैं। प्रार्थना आशा की आत्मा है।"

08 August 2020, 13:41