खोज

Vatican News
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर  (ANSA)

आध्यात्मिक भूल की जड़ स्वयं को धर्मात्मा मानना, संत पापा

खुद को धर्मात्मा मानने वाले के जीवन से ईश्वर कोसों दूर रहता है। घमंड करने वालों से तो अन्य लोग भी दूर रहते हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज - वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार 25 अगस्त 2020 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने मंगलवार को ट्वीट प्रेषित कर सभी ख्रीस्तियों से खुद को धर्मी मानने और घमंड न करने की हिदायत दी।

संदेश में संत पापा ने लिखा, ʺप्रत्येक आध्यात्मिक भूल की जड़ स्वयं को धर्मात्मा मानना ​​है। स्वयं को धर्मी समझने के क्रम में हम एकमात्र धर्मात्मा ईश्वर को अपने से दूर कर देते हैं।ʺ

25 August 2020, 11:01