खोज

Vatican News
मेक्सिको में 72 प्रवासियों के नरसंहार की 10 वीं वर्षगांठ मेक्सिको में 72 प्रवासियों के नरसंहार की 10 वीं वर्षगांठ   (AFP or licensors)

संत पापा ने ‘सान फर्नांडो नरसंहार 2010' की वर्षगांठ को याद किया

संत पापा फ्राँसिस मेक्सिको में 72 प्रवासियों के नरसंहार की 10 वीं वर्षगांठ को याद करते हैं, और उन्हें "फेंकने वाली संस्कृति" का शिकार कहते हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज- वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 24 अगस्त 2020 (वाटिकन न्यूज) : सोमवार, 24 अगस्त मैक्सिको के तामाउलिपास राज्य के सान फर्नांडो में 72 मध्य और दक्षिण अमेरिकी प्रवासियों की बर्बर हत्या की 10 वीं सालगिरह है

अल-हयाचल के गाँव में लेज़र ज़ेटस ड्रग कार्टेल के द्वारा अनिर्दिष्ट प्रवासियों - 52 पुरुषों और 14 महिलाओं को मार दिया गया। उनके शवों को एक खेत में एक सामूहिक कब्र में दफन किया गया था और बाद में मेक्सिकन सेना द्वारा खोजा गया था।

फेंकने वाली संस्कृति के शिकार

संत पापा फ्राँसिस ने रविवार को संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में उपस्थित विश्वासियों के साथ देवदूत प्रार्थना का पाठ करने के उपरांत मेक्सिको में 72 प्रवासियों के नरसंहार को याद करते हुए कहा, "वे विभिन्न देशों के लोग थे जो बेहतर जीवन की तलाश कर रहे थे।"  "मैं पीड़ितों के परिवारों के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त करता हूँ जो आज भी 72 प्रवासियों के नरसंहार के न्याय और सच्चाई की मांग करते हैं।"

संत पापा ने कई प्रवासियों को भी याद किया जो एक बेहतर जीवन की चाहत में अपनी देश छोड़ते हैं और संकटों का शिकार बन जाते हैं।

उन्होंने कहा, '' ईश्वर हमसे उन सभी प्रवासियों का हिसाब मांगेंगे जो उम्मीद की यात्रा में मर जाते हैं। वे फेंकने वाली संस्कृति के शिकार बन जाते हैं।"

24 August 2020, 11:03