खोज

Vatican News
वाटिकन के सन्त पेत्रुस महागिरजाघर में वाटिकन के सन्त पेत्रुस महागिरजाघर में   (ANSA)

मरियम भक्ति को माफिया संगठनों से मुक्त रखें, सन्त पापा फ्राँसिस

परमधर्मपीठीय अन्तरराष्ट्रीय मरियम अकादमी के अध्यक्ष फादर स्तेफानो चेकिन को सम्बोधित एक पत्र में सन्त पापा फ्राँसिस ने मरियम भक्ति को माफिया अपराधिक संगठनों से मुक्त रखने का आह्वान किया है।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 21 अगस्त 2020 (रेई,वाटिकन रेडियो): परमधर्मपीठीय अन्तरराष्ट्रीय मरियम अकादमी के अध्यक्ष फादर स्तेफानो चेकिन को सम्बोधित एक पत्र में सन्त पापा फ्राँसिस ने मरियम भक्ति को माफिया अपराधिक संगठनों से मुक्त रखने का आह्वान किया है।

मरियम शास्त्र के अध्ययन हेतु गठित उक्त परमधर्मपीठीय अकादमी के अन्तर्गत आपराधिक और माफिया संबंधित घटनाओं के विश्लेषण और अध्ययन के लिये एक तदर्थ विभाग की संरचना की गई है। तदर्थ विभाग के कार्यों की सराहना कर सन्त पापा फ्राँसिस ने लिखा कि मरियम भक्ति को उन "अधिरचनाओं एवं शक्तियों से दूर रखा जाना चाहिये जो न्याय, स्वतंत्रता, ईमानदारी और एकजुटता सम्बन्धी सुसमाचारी मानदंडों के अनुरूप नहीं है।"

सन्त पापा फ्राँसिस का पत्र गुरुवार को सार्वजनिक किया गया।

पवित्र विरासत की रक्षा

वाटिकन न्यूज़ से बातचीत में फादर चेकिन ने कहा, "अकादमी का कार्य स्वस्थ धर्मपरायणता के  मद्देनजर एक स्वस्थ मरियमशास्त्रीय प्रशिक्षण प्रदान करना है।" उन्होंने कहा, "हमें उस धार्मिक और सांस्कृतिक विरासत की पुनर्खोज करनी होगी जो हमारे पास है तथा समस्त विश्व एवं विशेष रूप से, इटली में प्रचलित है, एक ऐसी विरासत जिसका हमें पुनर्मूल्यांकन करना होगा तथा जिसके मौलिक रूप की सुरक्षा को आगे आना होगा।"

इस बात की ओर फादर चेकिन ने ध्यान आकर्षित कराया कि इटली में तथा कुछेक अन्य देशों में भी "मरियम एवं काथलिक भक्ति को प्रायः, दुर्भावनापूर्ण ढंग से, माफ़िया संगठनों के रीति रिवाज़ों में जोड़ दिया जाता है तथा यथार्थ आध्यात्मिकता को विकृत किया जाता है। उदारहरणार्थ, जब धन्य कुँवारी मरियम की प्रतिमा को जुलूसों के दौरान माफ़िया मालिकों के घरों के सामने झुकाया जाता है।" उन्होंने कहा, "हम परिवारों और लोगों को उचित प्रशिक्षण प्रदान कर भक्ति के इस विकृत उपयोग को मिटाना चाहते हैं।"

फादर चेकिन ने कहा, "भक्ति का दुरुपयोग धर्म नहीं है, यह अंधविश्वास है, हालांकि, माफिया नेता लोगों को यह सिखाने की कोशिश कर रहे हैं कि ईश्वर उनकी तरफ़ हैं, उनके साथ हैं।" इस प्रकार, उन्होंने कहा कि अपराधिक संगठन लोगों की धार्मिक भावनाओं का दुरुपयोग करना चाहते हैं ताकि वे हमेशा गुलाम बने रहें।"

धर्मों के बीच वार्ता

सन्त पापा फ्राँसिस की शिक्षाओं का स्मरण करते हुए फादर चेकिन ने बताया कि सन्त पापा ने हमसे स्पष्ट कहा है कि अकादमी को साक्षात्कार एवं वार्ताओं का एक विशेष स्थल होना चाहिये। उन्होंने कहा कि सन्त पापा फ्राँसिस के सुझावों के अनुकूल उनकी अकादमी ने मुस्लिम-ख्रीस्तीय आयोग की स्थापना की है, जो रोम के मस्जिद के साथ मिलकर कार्य शिविरों एवं प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन कर रहा है।

फादर चेकिन ने कहा कि यह नितान्त आवश्यक है कि धर्म की ग़लत व्याख्या से दूर रहा जाये तथा लोगों में यह चेतना जागृत की जाये कि प्रायः विभाजन पैदा करने के लिये धर्म का दुरुपयोग किया जाता है। फादर चेकिन ने कहा कि सभी को यह स्मरण रखना होगा कि "ईश्वर प्रेम हैं, भय या दंड नहीं।"

     

21 August 2020, 11:29