खोज

Vatican News
कोलम्बस के शूरवीरों से मुलाकात करते संत पापा फ्राँसिस कोलम्बस के शूरवीरों से मुलाकात करते संत पापा फ्राँसिस  (Vatican Media)

कोलम्बस के शूरवीरों की उदारता के लिए संत पापा का आभार

वाटिकन राज्य सचिव कार्डिनल पीयेत्रो परोलिन ने पोप फ्राँसिस की ओर से कोलम्बस के शूरवीरों को लिखा है कि सुसमाचार प्रचार के मिशन में कलीसिया को योगदान देने हेतु संत पापा फ्राँसिस ने उन्हें अपना आभार प्रकट किया है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार, 12 अगस्त 20 (वीएन)- वाटिकन राज्य सचिव ने कोलम्बस के शूरवीरों के 138वें सम्मेलन के अवसर पर, सुप्रीम नाईट कार्ल अंदरशन को संत पापा फ्राँसिस का अभिवादन प्रेषित किया है।

14 जुलाई के पत्र में उन्होंने लिखा था, "संत पापा फ्राँसिस यह खबर पाकर खुश हुए कि कोलम्बस के शूरवीरों का 138वाँ महासम्मेलन इस साल 4-5 अगस्त को सम्पन्न होनेवाला है। उन्होंने मुझे सभी प्रतिभागियों को अपना आध्यात्मिक सामीप्य के साथ साथ अपना हार्दिक अभिवादन प्रेषित करने को कहा है।"

कार्डिनल ने लिखा है कि उस अवसर पर, संत पापा ने कलीसिया में सुसमाचार के मिशन तथा संत पेत्रुस के उत्तराधिकारी हेतु ऑर्डर के ऐतिहासिक योगदान के प्रति बड़ा आभार प्रकट किया था, विशेषकर, उन्होंने शूरवीरों को धन्यवाद दिया है जो सुसमाचार के कारण अत्याचार के शिकार हमारे ख्रीस्तीय भाई बहनों की लगातार सहायता करते हैं। सम्मेलन की विषयवस्तु थी, "कोलम्बस के शूरवीर : भाईचारा के शूरवीर।"

कोविड-19 संकट के बीच उदारता

कार्डिनल परोलिन ने कहा कि सम्मेलन की विषयवस्तु भाईचारा का सिद्धांत, "ऑर्डर की नींव को निर्देशित करनेवाली दृष्टि का समय पर अनुस्मारक है।" इसने शूरवीरों में सुसमाचार द्वारा विकसित "उदारता की रचनात्मकता" को प्रेरित किया है।

खासकर, ऐसे समय में जब विश्व कोविड-19 महामारी का सामना कर रहा है। पूरी कलीसिया पुनः जागने तथा एकात्मता एवं आशा का अभ्यास करने की आवश्यकता महसूस कर रही है, जो शक्ति, सहयोग और सार्थकता प्रदान करती है।

वाटिकन राज्य सचिव ने स्वीकार किया कि स्वास्थ्य संकट के समय पीड़ित व्यक्तियों एवं समुदायों को शूरवीरों ने उदार सहयोग दिया है। उन्होंने संत पापा की ओर से शूरवीरों को इसलिए भी धन्यवाद दिया कि उन्होंने अधिक भाईचारापूर्ण, न्यायी और न्यायसंगत समाज के ईश्वर की योजना का साक्ष्य दिया है जहाँ कोई भी पीछे नहीं छूट सकता।   

परिवारों की देखभाल : प्राथमिकता

कार्डिनल ने गौर किया कि शूरवीरों ने परिवारों की देखभाल करने को प्राथमिकता दी है। उन्होंने कहा कि पारिवारिक जीवन को स्थापित करने के द्वारा व्यक्ति एकात्मता, आपसी सम्मान, सच्चाई, करुणा और प्रेम में बढ़ता है।

उन्होंने कहा, "गर्भधारण से लेकर पूरे मानव जीवन की अनुल्लंघनीय प्रतिष्ठा के लिए आपका मजबूत और साहसी रक्षा तथा पारिवारिक जीवन को सुदृढ़ करने की प्रतिबद्धता, दैनिक जीवन में पवित्रता एवं ख्रीस्तीय साक्ष्य का सच्चा रास्ता है।"    

संस्थापक से प्रेरणा

संत पापा फ्राँसिस ने मई महीने में कोलम्बस के शूरवीरों के संस्थापक मिखाएल मैकगिभनी द्वारा हुए चमत्कार को अनुमोदन दिया और उनकी धन्य घोषणा के रास्ते को साफ कर दिया है। कार्डिनल ने कहा कि इस दृष्टिकोण से संत पापा शूरवीरों के साथ धन्यवाद ज्ञापन में भाग लेते हैं तथा मानते हैं कि "यह उत्सव शूरवीरों के लिए एक प्रेरणा होगी जो मिशनरी शिष्यों के रूप में उदारता, एकता और बंधुत्व में रहने की उनकी प्रतिबद्धता को गहरा करेगा।"

कार्डिनल ने कहा, "एक पल्ली पुरोहित के रूप में आपके संस्थापक को अच्छी तरह पता था और वे सुसमाचार के जनादेश की अपने झुंड पर प्रभाव डालना चाहते थे, "तुमने मेरे इन भाइयो में से किसी एक के लिए, चाहे वह कितना ही छोटा क्यों न हो जो कुछ किया, वह तुमने मेरे लिए किया।" (मती. 25: 40)

अंत में कार्डिनल ने लिखा कि संत पापा फ्राँसिस शूरवीरों को माता मरियम को सिपूर्द करते और अपनी प्रार्थना का आश्वासन देते हैं। वे सबों को अपना प्रेरितिक आशीर्वाद प्रदान करते हैं। 

12 August 2020, 14:53