खोज

Vatican News
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर 

कोट्टायम (भारत) महाधर्मप्रांत के सहायक धर्माध्यक्ष की नियुक्ति

फादर घीवर्गीस (जॉर्ज) कुरिसुमोटिल (भारत) सिरो-मालाबार कोट्टायम महाधर्मप्रांत के सहायक धर्माध्यक्ष नियुक्त किये गये।

माग्रेट सुनीता मिंज - वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार 29 अगस्त 2020 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने शनिवार 29 अगस्त को फादर घीवर्गीस (जॉर्ज) कुरिसुमोटिल को (भारत) सिरो-मालाबार कोट्टायम महाधर्मप्रांत के सहायक धर्माध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया है। वर्तमान में वे उसी महाधर्मप्रांत के सिरो-मलंकरा विश्वासियों के सिनोटेलस हैं। फादर घीवर्गीस ने सहायक धर्माध्यक्ष के रुप में घीवर्गीस मार एप्रेम नाम लिया।  

बायोडेटा

नव नियुक्त धर्माध्यक्ष घीवर्गीस मार एप्रेम कुरिसुमोटिल का जन्म 9 अगस्त 1961 को तिरुवल्ला में हुआ था और प्राथमिक विद्यालय के बाद कोट्टायम में संत स्टानिस्लाव माइनर सेमिनरी में प्रवेश किया। उन्होंने अपना दर्शन शास्त्र और धर्मशास्त्र का अध्ययन मैंगलोर में संत जोसेफ अंतर-धर्मप्रांतीय सेमिनरी में किया।

27 दिसंबर, 1987 को पुरोहित अभिषेक के बाद, वे तीन साल के लिए माइनर सेमिनरी के उप-रेक्टर थे।

उन्होंने विभिन्न पल्लियों में दस वर्षों तक सेवा दी। उसके बाद वे 2001 से 2004 तक कास्लिक (लेबनान) में होली स्पिरिट मैरोनाइट विश्वविद्यालय में ‘सेक्रेड ऑर्ट’ में मास्टर की डिग्री हासिल की।

अपनी पढाई खतम करने के बाद उन्होंने संत एफ़्रेम इकोनामिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट में आइकनोग्राफी और संत थॉमस अपोस्टोलिक सेमिनरी में आइकन का धर्मशास्त्र पढ़ाया।

वे पल्ली में अपनी प्रेरिताई सेवा देते हुए 2009 से 2013 तक कोट्टायम महाधर्प्रांत के कला प्रदर्शन के लिए बने "हडूसा" आयोग के निदेशक थे। 2014 में वे संत तेरेसा काथलिक पल्ली, रान्नी के पल्ली पुरोहित नियुक्त हुए।

 2019 में वे कोट्टायम के सिरो-मालाबार महाधर्मप्रांत को सौंपे गए सीरो-मलंकरा विश्वासियों के लिए सिनोटेलस  नियुक्त किये गये।

29 August 2020, 14:34