खोज

Vatican News
देवदूत प्रार्थना में सहभागी लोग, 23 अगस्त 2020 देवदूत प्रार्थना में सहभागी लोग, 23 अगस्त 2020  (ANSA)

पीड़ितों के प्रति संत पापा की संवेदना

संत पापा फ्रांसिस ने अपने रविवारीय देवदूत प्रार्थना के उपरांत विभिन्न तरह से पीड़ित लोगों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की।

दिलीप संजय एक्का- वाटिकन सिटी

देवदूत प्रार्थना के उपरांत संत पापा ने पुनः सभों का अभिवादन करते हुए कहा कि बीते कल हमने विश्वव्यापी उन लोगों की याद की जो धर्म या विश्वास के कारण हिंसा के शिकार हुए। हम उनकी याद करते हुए उनके लिए प्रार्थना करें जो आज भी अपने विश्वास और धर्म के कारण प्रताड़ना के शिकार हैं, जिनकी संख्या बहुत अधिक है।

नरसंहार के शिकार

उन्होंने कहा कि 24 अगस्त को मैक्सिकों के संत फेरन्दो,तामाऊलीपास में 72 प्रवासियों के नरसंहार की 10वीं सालगिराह है। वे बेहतर जीवन की खोज कर रहे विभिन्न देशों के प्रवासी थे। संत पापा ने कहा कि मैं उनके परिवारों के प्रति अपनी सहानुभूति व्यक्त करता हूँ जो आज भी जीवित हैं तथा सत्य और न्याय की मांग कर रहे हैं। ईश्वर हमें उन लोगों के प्रति न्यायी होने में मदद करें जो फेंके जाने की संस्कृति का शिकार होते, जो आशा की यात्रा में अपना जीवन खो देते हैं।

भूकम्प पीड़ित

इसके उपरांत संत पापा ने केन्द्रीय इटली में हुए भूकम्प की चौथी सालगिराह की याद करते हुए भूकम्प से प्रभावित परिवारों और समुदायों के प्रति अपना सामीप्य प्रकट किया। उन्होंने आशा व्यक्त की कि हताहत हुए परिवारों की सम्पति का पुनर्निमाण जल्द किया जा सकें जिससे आपेन्नीने पर्वत की वादियों में लोग खुशहाल जीवन व्यतीत कर सकें। इसके साथ ही उन्होंने उत्तरी मोज्जाबिंक की अपनी प्रेरितिक यात्रा की याद करते हुए काबो देलगादो के निवासियों के प्रति भी संवेदना व्यक्त की जो अंतरराष्ट्रीय हिंसा के शिकार हो रहे हैं।

अंत में संत पापा ने सभी तीर्थयात्रियों और विश्वास समुदायों का अभिवादन किया और कोराना महामारी से पीड़ित लोगों, स्वयंसेवियों, चिकित्सकों, नर्सों, धर्मसमाजियों, धर्मबहनों की याद की जिन्होंने सेवा में अपने जीवन को निछावर कर दिया। उन्होंने कोरोना प्रभावितों की याद करते हुए प्रार्थना का आह्वान किया। और अंत में संत पापा ने अपने लिए प्रार्थना की याचना करते हुए सभों को रविवारीय मंगलकामनाएं अर्पित कीं। 

24 August 2020, 13:35