खोज

Vatican News
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर 

ईशवचन को फलदायी बनाना हम पर निर्भर है, संत पापा

संत पापा फ्राँसिस ने रविवार को दो ट्वीट कर सभी विश्वासियों से प्रभु के वचन को स्वीकार करने और फल लाने हेतु अपने आप को तैयार करने की प्रेरणा दी और विश्व सागर दिवस के अवसर पर इस महामारी के समय सभी समूद्री कार्यकर्ताओं के महान त्याग को स्वीकार करते हुए उनके और परिवार वालों के लिए प्रार्थना करने का कहा।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 13 जुलाई 2020 (वाटिकन न्यूज) : काथलिक पंचाग के पंद्रहवे रविवार के लिए चुना गया संत मत्ती के सुसमाचार पाठ 13:1-23 बीज बोने वाले दृष्टांत है। इस दृष्टांत पर मनन करते हुए संत पापा ने ट्वीट प्रेषित कर सभी ख्रीस्तियों को खुद को एक उपजाऊ जमीन बनने हेतु प्रेरित किया।

1 ट्वीट

संदेश में उन्होंने लिखा, ʺआज का सुसमाचार हमें याद दिलाता है कि ईश्वर का वचन एक फलदायी और प्रभावी बीज है जिसे ईश्वर बड़ी उदारता के साथ हर जगह बिखेरता है। यदि हम चाहें, तो शब्द के बीज को उगने और बढ़ने में मदद करने के लिए जुताई कर अच्छी मिट्टी तैयार कर सकते हैं और सावधानी से खेती कर सकते हैं। इसे फलदायी बनाना हम पर निर्भर करता है।ʺ

2 ट्वीट

रविवार 12 जुलाई को सभी कलीसियाओं ने सागर दिवस मनाया। इस दिन संत पापा ने सभी समूद्री कार्यकर्ताओं के महान त्याग को स्वीकार करते हुए उन्हें और परिवार वालों को माता मरियम की छत्रछाया में सिपुर्द करते हुए प्रार्थना करने के लिए प्रेरित किया।

ट्वीट संदेश में उन्होंने लिखा,ʺइस सागर रविवार को हम, समुद्र का तारा कुवांरी मरियम की छत्रछाया में सभी समुद्री कर्मियों, मछुआरों और उनके परिवारों को सौंपते हुए उनके लिए प्रार्थना करते हैं। उन्होंने कई बलिदान किए हैं - यहां तक कि महामारी के कारण लॉकडाउन के दौरान भी हमें भोजन और अन्य प्राथमिक आवश्यकताओं को प्रदान करने के लिए काम करना जारी रखा।ʺ  

13 July 2020, 13:11