खोज

Vatican News
सन्त पापा फ्राँसिस ख्रीस्तयाग के अवसर पर, वाटिकन सिटी सन्त पापा फ्राँसिस ख्रीस्तयाग के अवसर पर, वाटिकन सिटी   (AFP or licensors)

नौ जुलाई को सन्त पापा फ्राँसिस ने किया ट्वीट

सन्त पापा फ्राँसिस ने विश्व के काथलिकों से आग्रह किया है कि वे अपने मन के द्वारों को खुला रख अपने विश्वास को जियें, ताकि विश्वास का संचार लोगों तक एक अनमोल खज़ाना पहुँचाने के लिये हो।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 10 जुलाई 2020 (रेई,वाटिकन रेडियो): सन्त पापा फ्राँसिस ने विश्व के काथलिकों से आग्रह किया है कि वे अपने मन के द्वारों को खुला रख अपने विश्वास को जियें, ताकि विश्वास का संचार लोगों तक एक अनमोल खज़ाना पहुँचाने के लिये हो।  

विश्वास एक अनमोल खज़ाना

गुरुवार, 09 जुलाई को एक ट्वीट सन्देश प्रकाशित कर सन्त पापा फ्राँसिस ने कहा, "विश्वास या तो मिशनरी है अथवा वह कोई विश्वास नहीं है। विश्वास हमें ख़ुद से बाहर निकलकर अन्यों की ओर जाने के लिये प्रेरित करता है। विश्वास का संचार और प्रचार होना चाहिए, विश्वास दिलाने के लिए नहीं बल्कि एक अनमोल खज़ाने की पेशकश के लिए। आइए, हम प्रभु से प्रार्थना करें कि प्रभु खुले द्वारों सहित अपने विश्वास को जीने में हमारी मदद करें: एक पारदर्शी विश्वास को जीने में हमारी सहायता करें।"

10 July 2020, 10:44