खोज

Vatican News
एक युवा खेलाड़ी करोलिना के साथ संत पापा फ्राँसिस एक युवा खेलाड़ी करोलिना के साथ संत पापा फ्राँसिस 

प्रिय युवाओ, प्रत्येक बुजुर्ग आपके दादा या दादी हैं!, संत पापा

काथलिक कलीसिया 26 जुलाई को माता मरियम के माता-पिता संत अन्ना और जोवाकिम का पर्व मनाती है। वे येसु के नाना-नानी थे। इस अवसर पर संत पापा ने दो ट्वीट कर युवाओं को लाचार और अलग-थलग पड़े बुजुर्गों के प्रति सहानुभूति प्रकट करने हेतु प्रेरित किया। 27 जुलाई के ट्वीट में संत पापा ने ख्रीस्तियों को दूसरों द्वारा की गई सेवा के प्रति आभार प्रकट करने को कहा।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी,सोमवार 27 जुलाई 2020 (वाटिकन न्यूज) : काथलिक कलीसिया के वार्षिक पंचाग अनुसार, 26 जुलाई वर्ष का 16वाँ रविवार है। इस दिन के पुजन विधि के लिए चयनित सुसमाचार पाठ संत मत्ती (13ः44-52) से लिया गया है जो स्वर्ग राज्य के बारे में है। संत पापा फ्राँसिस ने ट्वीट कर स्वर्ग राज्य के लिए अपने को तैयार करने हेतु प्रेरित किया।

1 ट्वीट

संदेश में उन्होंने लिखा, ʺस्वर्ग का राज्य, दुनिया को प्रदान करने वाली शानदार चीजों के विपरीत है, एक कुठित जीवन के विपरीत है: यह एक खजाना है जो रोजमर्रा की जिंदगी को नवीनीकृत करता है और इसे व्यापक क्षितिज की ओर ले जाता है।ʺ

2 ट्वीट

इसी दिन काथलिक कलीसिया येसु के नाना-नानी संत जोवाकिम और संत अन्ना का त्योहार भी मनाती है।अस दिन संत पापा ने ट्वीट कर सभी युवाओं को बुजुर्गों के प्रति प्रेम और सहानुभूति प्रकट करने हेतु प्रेरित किया।

संदेश में उन्होंने लिखा, ʺसंत जोवाकिम और संत अन्ना, येसु के "नाना-नानी" के पर्व दिवस पर, मैं युवा लोगों को अपने घरों या वृद्धों के निवासगृहों में रहने वाले बुजुर्गों, विशेष रूप से अकेले रहने वाले बुजुर्गों के प्रति प्रेम और सहानुभूति प्रकट करने के लिए आमंत्रित करना चाहूंगा। प्रिय युवाओ, प्रत्येक बुजुर्ग आपका दादा या दादी है!ʺ

27 जुलाई का ट्वीट

संत पापा फ्राँसिस ने सोमवार के ट्वीट में लिखा,ʺ जब कोई हमें सेवा प्रदान करता है, तो हमें यह नहीं सोचना चाहिए कि हम सब कुछ पाने के लायक हैं। सेवा देने वाले की प्रशंसा करना और उसके प्रति आभार प्रकट करना, सबसे पहले एक अच्छा शिष्टाचार है और यह एक ख्रीस्तीय की विशेषता भी है। यह ईश्वर के राज्य का एक सरल लेकिन वास्तविक संकेत है।ʺ

27 July 2020, 13:58