खोज

Vatican News
संत पापा बुजुर्गों  से मुलाकात करते हुए संत पापा बुजुर्गों से मुलाकात करते हुए  (AFP or licensors)

बुजुर्गों की देखभाल करें, उन्हें अकेला न छोड़ें, संत पापा

संत पापा फ्राँसिस ने रोम के बाहर की एक पल्ली के पल्ली पुरोहित को फोन किया जहाँ उन्होंने पर एक समुदाय के पल्ली पुरोहित को बुलाते हैं कि उन्होंने 2018 में उस पल्ली का दौरा किया था। संत पापा ने पल्ली पुरोहित से पल्ली के विश्वासियों के लिए अपनी निकटता और प्रार्थनाओं का आश्वासन दिया या और उनसे आग्रह किया कि वे गर्मी के महीनों में बुजुर्गों को अकेला न छोड़ें।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार 4 जुलाई 2020 (वाटिकन न्यूज) : यह आश्चर्य की बात नहीं है कि इटली में गर्मियों के महीनों जुलाई और अगस्त में जब परिवार छुट्टियाँ बिताने पहाड़ों या समुद्र के किनारे चले जाते हैं और शहरों में बुजुर्ग अकेले रह जाते हैं तो अनेक सामाजिक सेवाएँ और सहायता परियोजनाएं कई बुजुर्गों का साथ देने की कोशिश करती हैं।

संत पापा फ्राँसिस उन लोगों को नहीं भूलते हैं जो अकेले और जरूरतमंद हैं। उन्होंने रोम के एक उपनगरीय "कॉर्विले" क्षेत्र के एक पल्ली पुरोहित से टेलीफोन में बातें की और पल्ली के बुजुर्गों और जरुरतमंदों के प्रति अपनी एकात्मकता दिखाते हुए उन्हें अकेला न छोड़ने हेतु आग्रह किया।

कॉर्विले क्षेत्र में स्थित ‘सेंट पॉल ऑफ द क्रॉस’ पल्ली के पल्ली पुरोहित फादर रोबेर्तो कास्सनो ने बुधवार शाम वाटिकन रेडियो को अपने आश्चर्य और खुशी के बारे में बताया जब उन्होंने अपने फोन कॉल का जवाब दिया और तुरंत संत पापा फ्राँसिस की आवाज को पहचान लिया।

फादर रोबेर्तो ने बताया ,"जब संत पापा फ्राँसिस ने 12 अप्रैल 2018 को हमारी पल्ली का दौरा किया था, तो मैंने उन्हें हमारे समुदाय के करीब रहने के लिए लाइव-स्ट्रीम प्रसारण के बारे बताया था और मैंने उनसे आशीर्वाद मांगा था।" उन्होंने कहा गर्मियों की छुट्टियों से पहले आखिरी प्रसारण के दौरान संत पापा के फोन की उम्मीद नहीं की थी।

फादर रोबेर्तो ने कहा कि वह और उनके साथी पुरोहित लाइव-स्ट्रीमिंग स्थापित करने की कोशिश कर रहे थे, तभी फोन की घंटी बजी और फोन करने वाले संत पापा फ्राँसिस की आवाज सुनकर तुरंत उन्होंने लाइव-स्ट्रीमिंग से जोड़ दिया ताकि हर कोई सुन सके।

उन्होंने कहा, "यह हम सभी के लिए एक भावुक क्षण था, यह जानकर हमें बेहद खुशी मिली कि संत पापा अभी भी 2018 में किये गये दौरे की याद करते हैं। इस दौरान उन्होंने उस बच्चे की भी याद किया जिनके साथ उन्होंने बातें की थी जिनके पिता की मृत्यु हाल के दिनों में हुई थी।ʺ

बात-चीत के दौरान संत पापा ने जोर देते हुए कहा कि गर्मियों की छुट्टियों में हम हमारे समुदाय के बुजुर्गों और सबसे कमजोर लोगों को अकेले न छोंड़ें। अंत में संत पापा ने अपने लिए भी प्रार्थना करने का आग्रह करते हुए हमें अपना आशीर्वाद दिया।

04 July 2020, 14:03