खोज

Vatican News
देवदूत प्रार्थना में सहभागी तीर्थयात्रीS देवदूत प्रार्थना में सहभागी तीर्थयात्रीS  (AFP or licensors)

दुःखितों के प्रति संवेदना

संत पापा फ्रांसिस ने देवदूत प्रार्थना के उपरांत सभों का अभिवादन किया।

देवदूत प्रार्थना के उपरांत संत पापा फ्रांसिस ने सभों का पुनः अभिवादन करते हुए कहा कि इस सप्ताह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा संघ ने कोविड-16 महामारी के विध्वंसक परिणामों से बचाने हेतु कुछ उपाय प्रस्तावित किये हैं विशेष कर उन प्रातों के लिए जहाँ स्थिति विकट बनी हुई है। उन्होंने एक वैश्विक और तत्काल संघर्ष विराम हेतु अनुरोध किया है जिससे शांति और सुरक्षा को बल मिले और आवश्यक मानवीय सहायता के कार्य को आगे बढ़ाया जा सके। उन्होंने कहा कि मैं आशा करता हूँ कि यह निर्णय दुःख के शिकार लोगों के लिए प्रभावकारी ढ़ंग से जल्द लागू किया जायेगा। हम आशा करते हैं कि सुरक्षा परिषद का यह संकल्प शांतिपूर्ण भविष्य की दिशा में एक साहसी पहल बनें।

इसके बाद संत पापा ने रोम और विश्व के विभिन्न देशों से आये हुए तीर्थयात्रियों का अभिवादन किया। मैं विशेषकर पोलैंड के लोगों का अभिवादन करता हूँ। मैं रेडियो मरिया परिवार के तीर्थयात्रियों को अपना आशीर्वाद प्रदान करता हूँ जो चेस्तोकोवा की तीर्थयात्रा में हैं जो आगामी शनिवार को होगा जो संत पापा योहन पौलुस द्वितीय के जन्म की सालगिराह है जिनका आदर्श था, “मैं सम्पूर्ण रूपमें आप का हूँ, मरियम”। आप सभों को आशीर्वाद।

इतना कहने के बाद संत पापा फ्रांसिस ने सभों को रविवारीय मंगलकामनाएं अर्पित कीं और अपने लिए प्रार्थना का निवेदन करते हुए सभों से विदा लिया।   

06 July 2020, 14:00