खोज

Vatican News
यूक्रेन युद्धविराम समझौता यूक्रेन युद्धविराम समझौता 

संत पापा द्वारा यूक्रेन युद्धविराम समझौते का स्वागत

संत पापा फ्राँसिस ने पूर्वी यूक्रेन में युद्ध विराम के लिए किये गये हस्ताक्षर पर संतोष व्यक्त किया। अब पूर्वी यूक्रेन में शांति का मार्ग प्रशस्त किया जा सकेगा और एक प्रभावी निरस्त्रीकरण और खान निकासी प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाएगा।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 27 जुलाई 2020 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने रविवार 26 जुलाई को संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में विश्वासियों को साथ देवदूत प्रार्थना का पाठ किया। इसके उपरांत उन्होंने पूर्वी यूक्रेन में जारी संघर्ष के निपटारे के लिए तथाकथित संपर्क समूह द्वारा किए गए संघर्ष विराम समझौते पर अपनी संतुष्टि व्यक्त करते हुए कहा,"मैं समझता हूँ कि डॉनबास क्षेत्र से संबंधित एक नए युद्धविराम का हाल ही में मिन्स्क में त्रिपक्षीय संपर्क समूह के सदस्यों ने फैसला किया।"

समझौते का उद्देश्य सामंजस्य लाना एवं डोनेट्स्क पीपुल्स रिपब्लिक और यूक्रेनी सशस्त्र बलों के बीच चल रहे संघर्ष में एक मौजूदा युद्धविराम पर नियंत्रण के अतिरिक्त उपायों की मंजूरी देना है। यह समझौता बुधवार को बेलोरुसियन की राजधानी मिन्स्क में किया गया और सोमवार 27 जुलाई से लागू होने वाला है।

संत पापा फ्राँसिस ने पार्टियों को धन्यवाद दिया। "सद्भावना के इस संकेत का उद्देश्य संकट ग्रस्त क्षेत्र में शांति लाना है।"

उन्होंने कहा, "मैं प्रार्थना करता हूँ कि जो सहमति दी गई है उसे आखिरकार एक प्रभावी निरस्त्रीकरण और खान निकासी प्रक्रिया सहित व्यवहार में लाया जाएगा। केवल इस तरह से विश्वास का पुनर्निर्माण और सुलह के लिए नींव रखना संभव होगा, जो लोगों के लिए बहुत आवश्यक है और वे लंबे समय से इसकी प्रतीक्षा में हैं।"

2014 की शरद ऋतु के बाद से, पूर्वी यूक्रेन में समाधान के लिए संपर्क समूह ने डोनबास में 20 से अधिक संघर्ष विराम की घोषणा की है। समूह के सदस्यों ने डोनबास में जुलाई 2019 से अनिश्चितकालीन युद्धविराम की घोषणा की, हालांकि संघर्ष विराम उल्लंघन जारी रहा।

रूसी समर्थित अलगाववादी ताकतों और यूक्रेनी सेना के बीच पूर्वी यूक्रेन में हिंसा में अप्रैल 2014 के बाद से लगभग 24,000 लोग मारे गये और 1.5 मिलियन लोग विस्थापित हुए।

27 July 2020, 14:34