खोज

Vatican News
VATICAN-BENEDICT/ VATICAN-BENEDICT/ 

संत पापा बेनेडिक्ट 16वें के बड़े भाई का निधन

ससम्मान सेवा निवृत संत पापा बेनेडिक्ट 16वें के बड़े भाई जॉर्ज रतजिंगर का निधन बुधवार सुबह को हुआ। वे 96 साल के थे और रेजेन्सवर्ग के अस्पताल में भर्ती थे। उनके निधन के साथ जोसेफ रतजिन्गर (संत पापा बेनेडिक्ट 16वें) परिवार के एकमात्र सदस्य रह गये हैं।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 2 जुलाई 2020 (रेई) : ससम्मान सेवा निवृत संत पापा बेनेडिक्ट 16वें के बड़े भाई जॉर्ज रतजिंगर का निधन बुधवार सुबह को हुआ। वे 96 साल के थे और रेजेन्सवर्ग के अस्पताल में भर्ती थे। उनके निधन के साथ जोसेफ रतजिन्गर (संत पापा बेनेडिक्ट 16वें) परिवार के एकमात्र सदस्य रह गये हैं।

मोन्सिन्योर जॉर्ज रतजिंगर का पार्थिव शरीर
मोन्सिन्योर जॉर्ज रतजिंगर का पार्थिव शरीर

ससम्मान सेवा निवृत संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें 18 जून को अपने बड़े भाई से मुलाकात करने जर्मनी गये थे और उनसे मुलाकात करने के बाद वे वापस रोम लौट चुके हैं।

मोन्सिन्योर जॉर्ज रतजिंगर एक कुशल संगीतकार थे जबकि जोसेफ रतजिंगर एक ईशशास्त्री, धर्माध्यक्ष, कार्डिनल एवं अंत में पोप भी बने। दोनों भाइयों का पुरोहिताभिषेक एक ही दिन हुआ था और वे एक-दूसरे अति करीब थे।

मोन्सिन्योर जॉर्ज रतजिंगर के साथ संत पापा बेनेडिक्ट 16वें
मोन्सिन्योर जॉर्ज रतजिंगर के साथ संत पापा बेनेडिक्ट 16वें

मोन्सिन्योर जॉर्ज रतजिंगर

बावारिया के प्लेइस्किर्केन में 15 जनवरी 1924 को जन्मे जॉर्ज रतजिंगर, अपने पल्ली के गिरजाघर में 11 साल की उम्र में ही ऑर्गन बजाना शुरू किये थे। पुरोहित बनने के मकसद से 1935 में ही वे ट्रौन्सटेन के लघु गुरूकुल में प्रवेश किये थे किन्तु 1942 में रिइकसरबेटस्डिएन्ट (रीच श्रम सेवा) में भर्ती हुए और बाद में वेहरम्कट में सेवा दी, जहाँ से वे इटली में भी लड़े। मार्च 1945 में जब वे मित्र राष्ट्रों द्वारा पकड़े गये, तब कई महीनों तक नेपल्स के जेल में बिताये। उसके बाद रिहा होकर उन्हें अपने घर जाने दिया गया। 1947 में अपने भाई जोसेफ के साथ म्यूनिक के हेरजोलिके जोर्जियनुम सेमिनरी में प्रवेश किया। 19 जून 1951 को दोनों भाइयों का अभिषेक हुआ। उन्होंने ट्रौनस्टेन में 30 सालों तक गायक दल का संचालन किया। कई संगीत कार्यक्रम लेकर विश्व के विभिन्न देशों का भ्रमण किया।

संत पापा फ्राँसिस का शोक संदेश

संत पापा फ्राँसिस ने सम्मान सेवा निवृत संत पापा बेनेडिक्ट 16वें को एक पत्र भेजकर उनके बड़े भाई के निधन पर गहन शोक व्यक्त किया है। संत पाप फ्राँसिस ने लिखा है, "आपने अपने प्यारे बड़े भाई मोनसिन्योर जॉर्ज के निधन की खबर सबसे पहले मुझे देने का कष्ट किया है। मैं इस दुःख की घड़ी में आपको अपनी हार्दिक संवेदना एवं आध्यात्मिक सामीप्य व्यक्त करता हूँ।

मैं उनके दिवांगत आत्मा के लिए प्रार्थना का आश्वासन देता हूँ ताकि जीवन के ईश्वर, अपनी करुणावान भलाई से उन्हें स्वर्गराज में प्रवेश पाने दें तथा सुसमाचार के विश्वासी इस सेवक को उनका पुरस्कार प्रदान करें।

संत पापा ने ससम्मान सेवा निवृत संत पापा बेनेडिक्ट 16 के लिए पिता ईश्वर से प्रार्थना की है तथा धन्य कुँवारी मरियम की मध्यस्थता द्वारा याचना की है कि उन्हें ख्रीस्तीय आशा एवं कोमल दिव्य सांत्वना से बल मिले। वे पुनर्जीवित ख्रीस्त जो आशा एवं शांति के स्रोत हैं उनसे हमेशा दृढ़ता से संयुक्त रह सकें।"

मोन्सिन्योर जॉर्ज रतजिंगर का अंतिम संस्कार रेजेंसबर्ग के महागिरजाघर में 8 जुलाई को प्रातः 10 बजे सम्पन्न होगा।

मोन्सिन्योर जॉर्ज रतजिंगर का पारिवारिक कब्रस्थान
मोन्सिन्योर जॉर्ज रतजिंगर का पारिवारिक कब्रस्थान
02 July 2020, 15:28