खोज

Vatican News
संतियागो की तीर्थयात्रा करते तीर्थयात्री संतियागो की तीर्थयात्रा करते तीर्थयात्री 

दिव्यांग युवा ने की संतियागो की पैदल तीर्थयात्रा, "साहसी साक्ष्य" : संत पापा

विश्वास से प्रेरित, अपने तथा दूसरों के लिए प्रार्थना करने की इच्छा से मालागा के 15 वर्षीय अलवारो की संतयागो तीर्थयात्रा की, संत पापा फ्राँसिस ने सराहना की है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 23 जुलाई 20 (रेई)- अलवारो की तीर्थयात्रा हेतु आंतरिक शक्ति से, संत पापा फ्राँसिस भी प्रभावित हुए बिना नहीं रहे। संत पापा ने उसके इस साहस की सराहना करते हुए एक पत्र लिखा और उसके साक्ष्य के लिए धन्यवाद दिया। 

15 वर्षीय अलवारो कालवेंते स्पेन के मालागा के मूल निवासी हैं और बौद्धिक रूप से दिव्यांग हैं। इसके बावजूद कुछ दिनों पहले अलवारो ने संतियागो की पैदल तीर्थयात्रा की। उनके साथ उनके पिता और परिवार के मित्र भी थे।

संत पापा ने अलवारो को अपने पत्र में लिखा, "प्यारे अलवारो, मैंने आपके पिता से एक पत्र प्राप्त किया, जिसमें उन्होंने बतलाया है कि आपने संतियागो की तीर्थयात्रा पूरी की है और अपने साथ न केवल अपने निवेदनों को लिया बल्कि उन सभी के निवेदनों को लिया जिन्होंने आपसे प्रार्थना की मांग की थी। चलने का प्रोत्साहन देने एवं कई लोगों को चलने का निमंत्रण देने के लिए धन्यवाद। इस महामारी के बीच अपनी निष्ठा, आनन्द और सादगी द्वारा आपने कई लोगों को प्रेरित किया है।" अलवारो की यात्रा की तस्वीर उनके पिता के ट्वीटर पर पोस्ट किया गया था।  

रास्ते पर हम कभी अकेले नहीं

संत पापा ने लिखा, "आप तीर्थयात्रा पर गये और कई लोगों को तीर्थयात्रा कराया, नहीं डरने के लिए प्रोत्साहन दिया और आनन्द की खोज की क्योंकि रास्ते पर हम कभी अकेले नहीं होते। प्रभु हमेशा हमारे साथ चलते हैं। आपके साक्ष्य एवं प्रार्थना के लिए धन्यवाद।" संत पापा ने अपने पत्र के अंत में उन्हें आशीष दी एवं कार्मेल की माता मरियम का आहवान किया तथा अपने लिए प्रार्थना का आग्रह किया।  

10 भाइयों में 7वें स्थान पर अलवारो ह्वेलिन जिला में रहते हैं और स्थानीय पल्ली संत पात्रित्सियो के नेओकाटेकूमेनल समुदाय के सदस्य हैं। अपनी विकलंगता के बावजूद वे पल्ली की गतिविधियों में भाग लेते हैं।

 

23 July 2020, 18:06