खोज

Vatican News
सीरिया के प्रवासी बच्चे सीरिया के प्रवासी बच्चे  (AFP or licensors)

संत पापा द्वारा सीरिया के लिए शांति और समर्थन की अपील

जैसा कि संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी है कि सीरिया के समुदायों को एक अभूतपूर्व भूख संकट का सामना करना पड़ रहा है, संत पापा फ्राँसिस ने राष्ट्रों से मध्य पूर्व में पीड़ित लोगों की सहायता करने के लिए निधि देने का आग्रह किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 29 जून 2020 (वाटिकन न्यूज) :  संत पापा फ्राँसिस ने 4वें ब्रुसेल्स सम्मेलन में मध्य पूर्व "सीरिया और उसके भविष्य के लिए समर्थन" करने हेतु दान दाता देशों से अपना समर्थन देने की अपील की।

उन्होंने रविवार को संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्राँगण में वहाँ उपस्थित यात्रियों और विश्वासियों के साथ देवदूत प्रार्थना का पाठ करने के उपरांत कहा, "हम इस महत्वपूर्ण बैठक के लिए प्रार्थना करें, ताकि यह सीरियाई लोगों और आस-पास के लोगों की नाटकीय स्थिति में सुधार ला सके, खासकर लेबनान के गंभीर सामाजिक-राजनीतिक और आर्थिक संकट को  इस महामारी ने और भी मुश्किल बना दिया है।"

संत पापा ने उन अनगिनत बच्चों का भी उल्लेख किया जो भूख से पीड़ित हैं। संत पापा ने राजनीतिक नेताओं से शांति की तलाश करने का आग्रह किया।

‘ब्रुसेल्स दाता-प्रतिज्ञा सम्मेलन’ 30 जून मंगलवार को ऑनलाइन होगा। फंडिंग शिखर सम्मेलन की मेजबानी यूरोपीय संघ द्वारा की जा रही है और संयुक्त राष्ट्र द्वारा सह-अध्यक्षता की जा रही है। इसमें संयुक्त राष्ट्र की कई एजेंसियों के प्रमुख भी भाग ले रहे हैं।

सीरिया में कोविद -19

भले ही सीरिया में अपेक्षाकृत कम कोविद -19 मामलों की पुष्टि हुई है। कोरोना वायरस के कुछ मामले ग्रामीण दमिश्क में पाये गये हैं, लेकिन गंभीर चिंता का बात यह है कि सीरिया के 10 में से 9 लोग एक दिन में  2 डॉलर से भी कम में अपना गुजारा करते हैं, इस खतरनाक बिमारी के संपर्क में आने की संभावना है।

संयुक्त राष्ट्र विश्व खाद्य कार्यक्रम (डब्ल्यूएफपी), दुनिया का सबसे बड़ा मानवीय संगठन है, जो प्रत्येक वर्ष लगभग 83 देशों में लगभग 100 मिलियन लोगों की सहायता कर रहा है। डब्ल्यूएफपी ने सीरिया में बड़े पैमाने पर भूख से पीड़ित लोगों के बारे में चेतावनी दी है।

200 प्रतिशत खाद्य-मूल्य वृद्धि

डब्ल्यूएफपी ने दुनिया भर में बड़े पैमाने पर पोषण कार्यक्रम को बनाए रखने के लिए वित्त जमा करने की अपील की है। डब्ल्यूएफपी का अनुमान है कि 9.3 मिलियन सीरियाई, जो देश की आबादी का आधे से अधिक हिस्सा है, उनके पास खाद्य पदार्थों की कमी है।

डब्ल्यूएफपी के प्रवक्ता एलिजाबेथ बायर्स ने कहा, "सीरिया आज एक अभूतपूर्व भूख संकट का सामना कर रहा है, क्योंकि नौ साल से चल रहे संघर्ष के कारण बुनियादी खाद्य पदार्थों की कीमतें ऊंचाई पर पहुंच गई हैं। एक साल के भीतर 200 प्रतिशत खाद्य मूल्य वृद्धि हुई है।"

संयुक्त राष्ट्र की खाद्य सहायता एजेंसी 4.8 मिलियन लोगों को सीरिया में खाद्य सहायता प्रदान कर रही है, लेकिन कार्यक्रम को जारी रखने के लिए डब्ल्यूएफपी की तत्काल 200 मिलियन डॉलर की आवश्यकता है।

13 मिलियन से अधिक विस्थापित या शरणार्थी

सीरिया के आधे से अधिक आबादी, 13 मिलियन से अधिक लोग अब देश के अंदर ही विस्थापित या शरणार्थियों के रुप में रह रहे हैं, संयुक्त राष्ट्र मानवतावादी समन्वय संगठन (ओसीएचए)  ने भी अगले मंगलवार को ब्रुसेल्स में वित्त पोषण शिखर सम्मेलन में अंतर्राष्ट्रीय समर्थन की आवश्यकता पर जोर देगा।

ओसीएचए के प्रवक्ता, जेन्स लार्के ने कहा, "बच्चों की एक पीढ़ी को कठिनाई, विनाश और अभाव के अलावा और कुछ भी पता नहीं है।" “अब भी सीरिया के अंदर 11 मिलियन से अधिक लोगों को सहायता और सुरक्षा की आवश्यकता है।  सीरिया में कम-से-कम कोविद -19 का प्रभाव बहुत कम है।”

29 June 2020, 13:56