खोज

Vatican News
शेशान की माता मरियम शेशान की माता मरियम 

चीन के विश्वासियों को संत पापा का आशीर्वाद

स्वर्ग की रानी प्रार्थना के उपरांत संत पापा फ्राँसिस ने विभिन्न दलों को सम्बोधित किया और सूचनाएँ जारी की।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार, 25 मई 2020 (रेई)-संत पाप ने चीन के विश्वासियों के साथ आध्यात्मिक रूप से एक होने का आह्वान किया, जो 24 मई को विशेष भक्ति के साथ धन्य कुँवारी मरियम ख्रीस्तियों की सहायिका एवं चीन की संरक्षिका का पर्व मनाते हैं। शंघाई स्थित शेशान के तीर्थस्थल पर उनकी  बड़ी श्रद्धा की जाती है। संत पापा ने कहा, "हम उस महान देश चीन की काथलिक कलीसिया के चरवाहों एवं विश्वासियों को स्वर्गीय माता के मार्गदर्शन और सुरक्षा तले समर्पित करते हैं ताकि वे विश्वास में मजबूत और भाईचारा में सुदृढ़ रहकर, परोपकार, भ्रातृत्व की आशा एवं अच्छे नागरिक के आनन्दमय साक्षी एवं प्रोत्साहक बन सकें।"

चीन के विश्वाससियों को संत पापा का आशीर्वाद

चीन के विश्वाससियों को सम्बोधित कर संत पापा ने कहा, "चीन के प्यारे काथलिक भाईयो एवं बहनो, मैं आपको आश्वासन देना चाहता हूँ कि विश्वव्यापी कलीसिया जिसके आप अभिन्न अंग हैं, आपकी आशा को साझा करती है एवं जीवन की चुनौतियों में आपके साथ है। पवित्र आत्मा के वरदानों को प्राप्त करने हेतु प्रार्थना में वह आपके साथ है जिससे कि सुसमाचार की ज्योति एवं सुन्दरता, विश्वास करनेवालों के लिए मुक्ति हेतु ईश्वर की शक्ति आप सभी में चमके। मैं पुनः आप सभी के प्रति अपना हार्दिक स्नेह प्रकट करता हूँ।" संत पापा ने सभी चीनवासियों को अपना प्रेरितिक आशीर्वाद दिया तथा कामना की कि माता मरियम हमेशा उनका मार्गदर्शन करें।"

संकट के समय सहयोग देने वालों के लिए प्रार्थना

संत पापा ने उन सभी लोगों की भी याद की जो इस संकट के समय में विभिन्न प्रकार से अपना सहयोग दे रहे हैं। उन्होंने कहा, "हम कुँवारी मरियम ख्रीस्तियों की सहायिका की मध्यस्थता द्वारा प्रभु के सभी शिष्यों एवं भली इच्छा रखनेवालों को प्रभु को समर्पित करते हैं कि वे इस कठिन समय में, विश्व के हर भाग में उत्साह और समर्पण के साथ शांति, राष्ट्रों के बीच वार्ता, गरीबों की सेवा, सृष्टि की देखभाल और शरीर, हृदय एवं आत्मा के हर प्रकार की बीमारी पर मानवता की जीत के लिए कार्य कर रहे हैं।"

विश्व सामाजिक संचार दिवस

उन्होंने विश्व सामाजिक संचार दिवस की याद की जो इस साल वर्णन या वृतांत विषय को समर्पित है। संत पापा ने कहा, "यह अवसर हमें निर्माणात्मक घटनाओं को बतलाने और साक्षा करने का प्रोत्साहन दे, जो हमें यह समझने में मदद दे कि हम सभी एक वृहद कहानी के हिस्से हैं और यदि हम सचमुच एक-दूसरे को भाई-बहन के रूप में मदद करते हैं तब हम आशा के साथ भविष्य को देख सकेंगे।"

डॉन बोस्को पुरोहितों के प्रति आभार

संत पापा ने कुँवारी मरियम ख्रीस्तियों की सहायिका का पर्व, जिसको सलेशिया समुदाय में खास रूप से मनाया जाता है, याद करते हुए उन्हें शुभकामनाएं दीं तथा अपने आध्यात्मिक प्रशिक्षण में उनसे मिले सहयोग के लिए डॉन बोस्को पुरोहितों के प्रति विशेष आभार प्रकट किया।

उन्होंने अरिच्चा जाने की इच्छा व्यक्त करते हुए कहा, "मुझे आज अरिच्चा जाना था, उन लोगों के विश्वास एवं समर्पण का समर्थन करने के लिए, जो आग की भूमि कहे जाने वाले स्थान पर प्रदूषण को कम करने हेतु कार्य कर रहे हैं पर मेरी यात्रा स्थगित हो चुकी है। फिर भी मैं वहाँ के धर्माध्यक्ष, पुरोहितों, परिवारों एवं समस्त धर्मप्रांत के लिए अपना अभिवादन, आशीर्वाद एवं प्रोत्साहन भेजता हूँ। जितना जल्दी संभव होगा मैं वहाँ जाऊँगा और आप सभी से मुलाकात करुँगा।  

लौदातो सी की पाँचवी वर्षगाँठ की याद

प्रेरितिक विश्व पत्र लौदातो सी की पाँचवी वर्षगाँठ की याद करते हुए उन्होंने पृथ्वी की पुकार एवं गरीबों के रूदन की ओर ध्यान आकृष्ट किया। उन्होंने "लौदातो सी सप्ताह" की पहल के लिए समग्र मानव विकास हेतु गठित परमधर्मपीठीय परिषद को धन्यवाद दिया जिसको पिछला सप्ताह मनाया गया। संत पापा ने प्रेरितिक विश्वपत्र लौदातो सी पर विशेष रूप से चिंतन करने हेतु 24 मई 2020 -24 मई 2021 को लौदातो सी वर्ष घोषित किया। उन्होंने सभी लोगों का आह्वान करते हुए कहा, "मैं भली इच्छा रखने वाले सभी लोगों का आह्वान करता हूँ कि आप हमारे आमघर एवं हमारे सबसे कमजोर भाई-बहनों की देखभाल करने में भाग लें। इस साल के लिए समर्पित प्रार्थना, वेबसाईट पर प्रकाशित है। अच्छा होगा कि आप इसके लिए प्रार्थना करें।"

तब अंत में संत पापा ने अपने लिए प्रार्थना का आग्रह करते हुए सभी को शुभ रविवार की मंगलकामनाएँ अर्पित की।   

25 May 2020, 15:15