खोज

Vatican News
संत पेत्रुस महागिरजाघर खुला। संत पेत्रुस महागिरजाघर खुला।   (ANSA)

विश्वासियों के साथ ख्रीस्तयाग में नियमों पर ध्यान दें, संत पापा

स्वर्ग की रानी प्रार्थना के उपरांत संत पापा ने विभिन्न सूचनाएँ दीं। उन्होंने लौदातो सी सप्ताह की याद दिलायी और विश्वासियों के साथ ख्रीस्तयाग अर्पित करते समय नियमों पर ध्यान देने का प्रोत्साहन दिया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन  सिटी

उन्होंने संत पापा जॉन पौल द्वितीय के जन्म की शतवर्षीय जयन्ती की याद दिलाते हुए कहा, "कल पोलैंड के वाडोवाईस में संत पापा जॉन पौल द्वितीय के जन्म की शतवर्षीय जयन्ती मनायी जायेगी। हम उन्हें बड़े स्नेह एवं कृतज्ञता से याद करते हैं। कल सुबह 7 बजे मैं उनके पवित्र आवशेष पर बनी वेदी पर ख्रीस्तयाग अर्पित करूँगा जिसको दुनिया के लिए प्रसारित किया जाएगा। स्वर्ग से वे ईश प्रजा एवं दुनिया में शांति के लिए प्रार्थना करते रहें।"

विश्वासियों के साथ ख्रीस्तयाग फिर शुरू

तब संत पापा ने विश्वासियों के साथ ख्रीस्तयाग फिर शुरू किये जाने की बात बतलाते हुए सावधानी करने का प्रोत्साहन दिया। उन्होंने कहा, "कुछ देशों में विश्वासियों के साथ ख्रीस्तयाग मनाने को फिर शुरू किया जा रहा है, जबकि कुछ देशों में विश्वासियों के साथ ख्रीस्तयाग मनाने की संभावना का मूल्यांकन किया जा रहा है। इटली में कल से ही विश्वासियों के साथ ख्रीस्तयाग अर्पित किया जाएगा।" किन्तु आग्रह करता हूँ कि हम नियम और नुस्खों के साथ आगे बढ़ें जो हमें दिये गये हैं ताकि हम प्रत्येक एवं सभी लोगों के स्वास्थ्य की रक्षा हो सके।

प्रथम परमप्रसाद

मई माह में, कई पल्लियों में प्रथम परमप्रसाद का ख्रीस्तयाग अर्पित करने की परम्परा है। निश्चय ही, महामारी के कारण विश्वास एवं उत्सव के इस सुन्दर अवसर को  स्थगित कर दिया गया है। अतः मैं उन बच्चे-बच्चियों को अपना स्नेह भेज रहा हूँ जिन्हें पहला परमप्रसाद लेना था। मैं उन्हें इस इंतजार की घड़ी को, अपने आपको अधिक अच्छी तरह तैयार करने हेतु प्रार्थना एवं येसु का गहरा ज्ञान प्राप्त करने के लिए धर्मशिक्षा की किताब पढ़ते हुए, दूसरों की सेवा एवं भलाई की भावना में बढ़ने के अवसर के रूप में जीने का निमंत्रण देता हूँ। संत पापा ने इसके लिए उन्हें शुभकामनाएँ दीं।

"लौदातो सी सप्ताह"

उसके बाद संत पापा ने "लौदातो सी सप्ताह" की याद दिलाते हुए कहा, "आज लौदातो सी सप्ताह शुरू हो रहा है जो अगले रविवार को समाप्त होगा, जिसमें विश्व पत्र की प्रकाशना की पाँचवी वर्षगाँठ की याद की जायेगी। महामारी के इस समय में हमने आमघर की देखभाल के महत्व को अधिक समझा है। मैं शुभकामनाएँ देता हूँ कि हर चिंतन एवं सामूहिक कार्य, सृष्टि की देखभाल करने की रचनात्मक भावना में बढ़ाने हेतु मदद दे।  

अंत में, संत पापा ने प्रार्थना का आग्रह करते हुए सभी को शुभ रविवार की मंगल कामनाएँ अर्पित की।     

    

18 May 2020, 12:17